Top
धर्म-अध्यात्म

शुक्रवार को करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न...आपको मिलेगा सुख और समृद्धि

Subhi
11 Jun 2021 3:02 AM GMT
शुक्रवार को करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न...आपको मिलेगा सुख और समृद्धि
x
हिंदू धर्म में पूजा करने के लिए प्रत्येक दिन को शुभ माना जाता है। इस वजह से हर देवी-देवता की पूजा के लिए अलग दिन निर्धारित है।

हिंदू धर्म में पूजा करने के लिए प्रत्येक दिन को शुभ माना जाता है। इस वजह से हर देवी-देवता की पूजा के लिए अलग दिन निर्धारित है। माता लक्ष्मी की पूजा के लिए शुक्रवार का दिन विशेष महत्व रखता है। इस दिन वैभव लक्ष्मी की पूजा की जाती है, जिस पर मां की कृपा हो जाए, उसे पूरे जीवन में सुख, शांति, समृद्धि, धन और यश की प्राप्ति होती है। धन प्राप्ति की कामना के लिए शास्त्र के बताए अनुसार पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। जब तक मां लक्ष्मी की कृपा न हो, तब तक सुखों की प्राप्ति संभव नहीं होती है। अगर आप चाहते हैं कि मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहे, तो अपनाएं ये उपाय।

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय
1. जब आप किसी भी खास काम से घर के बाहर निकल रहे हैं, तो जाने से पहले थोड़ा मीठा दही खाकर निकलें।
2. आपके किसी काम में अवरोध आ रहा है, तो शुक्रवार के दिन काली चींटियों को चीनी अर्पित करें।
3. अगर पति-पत्नी में तनाव रहता है, तो शुक्रवार के दिन अपने शयनकक्ष में प्रेमी पक्षी जोड़े की तस्वीर लगाएं।
4. शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी के मंदिर जाकर शंख, कौड़ी, कमल, मखाना, बताशा अर्पित करें क्योंकि ये सभी चीजें महालक्ष्मी मां को बहुत प्रिय हैं।
5. पीपल के वृक्ष की छाया में खड़े होकर लोहे के बर्तन में जल, चीनी, घी तथा दूध मिलाकर पीपल के वृक्ष की जड़ में अर्पित करना चाहिए। इससे घर में लंबे समय तक सुख-समृद्धि और लक्ष्मी का वास होता है।
6. घर में लगातार धनहानि होने पर घर के मुख्यद्वार के सामने गुलाल से रंगोली बनाकर उसपर शुद्ध घी का दोमुखी दीपक जलाना चाहिए। इस क्रिया को करते वक्त मन में कामना करें कि भविष्य में किसी भी तरह की धनहानि का सामना न करना पड़ें। दीपक के शांत होने पर उसे बहते हुए पानी में बहा देना चाहिए।
7. मां गजलक्ष्मी की उपासना संपत्ति और संतान की प्राप्ति के लिए करनी चाहिए।
8. कभी भी अन्न का अपमान नहीं करना चाहिए और न ही होने देना चाहिए।
9. क्रोध में आकर खाने की थाली फेंकने वाले के घर में कभी धन, वैभव और सुख नहीं रहता।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it