Top
धर्म-अध्यात्म

जानिए कब है हनुमान जयंती

Chandravati Verma
7 April 2021 6:08 PM GMT
जानिए कब है हनुमान जयंती
x
हनुमान जयंती एक शुभ त्योहार है जो चैत्र महीने में शुक्ल पक्ष के 15वें दिन मनाया जाता है

हनुमान जयंती एक शुभ त्योहार है जो चैत्र महीने में शुक्ल पक्ष के 15वें दिन मनाया जाता है. इस दिन को भगवान हनुमान की जयंती के रूप में मनाया जाता है. इस दिन, भक्त भगवान हनुमान की पूजा करते हैं और वो इस दिन उनकी विशेष आरती भी करते हैं. इस खास दिन पर लोग माथे पर लाल टीका भी लगाते हैं. भगवान हनुमान, भगवान राम के भक्त थे और उन्होंने अपनी भक्ति और शक्ति के साथ, भगवान राम को रावण के साथ युद्ध करने में मदद की थी.

हनुमान जयंती कब है?
इस वर्ष, हनुमान जयंती 27 अप्रैल, 2021 को मनाई जाएगी, जो मंगलवार को पड़ेगी. हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान हनुमान का जन्म चैत्र महीने में शुक्ल पक्ष की 15वीं रात को हुआ था.
हनुमान जयंती की शुभ तिथि क्या है?
पूर्णिमा तीथि 26 अप्रैल को सुबह 12:44 बजे शुरू होगी और पूर्णिमा तिथि 27 अप्रैल, 2021 को रात 9:01 बजे समाप्त होगी.
पूजा विधी क्या है?
इस शुभ दिन पर, भक्त, भगवान हनुमान की मूर्ति की पूजा करते हैं और वो लाल सिंदूर और फूल भी उन पर अर्पित करते हैं. इस दिन, भक्त प्रसाद भी वितरित करते हैं और वो हनुमान जयंती के अवसर पर जरूरतमंदों को भोजन कराते हैं.
इस दिन का क्या महत्व है?
भगवान हनुमान को कई नामों से जाना जाता था, जैसे- मारुति, रुद्र, संकट मोचन, बजरंगबली, अजंनस्य, महाबली आदि. भगवान हनुमान, भगवान शिव के 11वें अवतार थे. उनकी पूजा बॉडीबिल्डरों और पहलवानों के जरिए भी की जाती है और वो इस शुभ दिन पर उनकी पूजा- अर्चना करते हैं.
इस दिन जप करने के मंत्र-
ऊं हनुमते नमः
ऊं अंजनेयाय विद्महे वायुपुत्राय धीमहि। तन्नो हनुमत प्रचोदयात्
ऊं ऐं भीम हनुमते श्री राम दोत्याय नमः
ऊं दैत्यनुमुखाय पंचमुख हनुमते करलाबलदाय
मंगल भवन अमंगलहारी द्रवहु सो दशरथ अजिर विहारी
ये दूसरी बार होगा जब हनुमान जयंती कोरोना के समय में मनाई जाएगी. पिछले साल यानी 2020 में तो इस जयंती को नहीं मनाया जा सका था. लेकिन इस बार थोड़ी स्थितियां बदली हुई हैं, लेकिन जिस तरह से कोरोना के केसेज लगातार बढ़ रहे हैं उसे देखते हुए बहुत ही हिदायत के साथ हनुमान जी की जयंती को भी मनाया जा सकता है. क्यूंकि ऐसे समयों में लोगों की भीड़ बहुत ही ज्यादा बढ़ जाती है, जिससे लोगों को कंट्रोल कर पाना बहुत ही मुश्किल सा हो जाता है. हालांकि, 2020 के समय में और इस वक्त में थोड़ा अंतर तो जरूर है लेकिन आप सबों को भी अपनी सुरक्षा का पूरा-पूरा ध्यान रखते हुए ही हनुमान जयंती को मनाना चाहिए.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it