धर्म-अध्यात्म

जानिए सूर्य देवता को अर्घ्य देने के सही नियम

Chandravati Verma
26 April 2021 8:22 AM GMT
जानिए सूर्य देवता को अर्घ्य देने के सही नियम
x
सूर्य को जल देने के कुछ नियम भी हैं। इसके लिए नियमों का पालन करते हुए ही सूर्य को अर्घ्य देने से आरोग्यता के साथ सुख-समृद्धि भी मिलती है।

जल देना चाहिए। सूर्य को जल देने के कुछ नियम भी हैं। इसके लिए नियमों का पालन करते हुए ही सूर्य को अर्घ्य देने से आरोग्यता के साथ सुख-समृद्धि भी मिलती है। इसके लिए आपको सुबह सवरेरे उठना चाहिए।

जब सूर्य उदय हो जाए उसके एक घंटे बाद तक आप भी स्नान कर सूर्य को अर्घ्य देने के लिए पहुंचे। सूर्य को जल देने से पहले जल में चुटकी भर रोली या लाल चंदन मिलाएं और लाल पुष्प के साथ जल दें।खाली जल से कभी भी सूर्य को जल ना दें। इस बात का भी ध्यान रखें कि जो सूर्य को आप जल दे रहे हैं, वह नाली भी बहकर न जाएं। इसलिए स्वच्छ और बड़ी जगह पर सूर्य को जल दें।
सूर्य को जल देते समय आपका मुख पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए। अगर कभी ऐसा हो कि सूर्य नजर ना आएं तब भी उसी दिशा की और मुख करके ही जल अर्घ्य दे दें।
इन मंत्रों का जाप भी सूर्य अर्घ्य के समय अच्छा रहता है:
तमसो मा ज्योतिर्गमय। मृत्योर्मामृतं गमय।
हंसो भगवाञ्छुचिरूप: अप्रतिरूप:।
विश्वरूपं घृणिनं जातवेदसं हिरण्मयं ज्योतीरूपं तपन्तम्।
सहस्त्ररश्मि: शतधा वर्तमान: पुर: प्रजानामुदत्येष सूर्य:।
ऊँ नमो भगवते श्रीसूर्यायादित्याक्षितेजसे हो वाहिनि वाहिनि स्वाहेति।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it