Top
धर्म-अध्यात्म

Hanuman Jayanti 2021: हनुमान जयंती पर बनेंगे ये दो संयोग, इन उपायों से मिलेगी मुक्ति

Kunti
8 April 2021 11:12 AM GMT
Hanuman Jayanti 2021: हनुमान जयंती पर बनेंगे ये दो संयोग, इन उपायों से मिलेगी मुक्ति
x
हनुमान जयंती पर बनेंगे ये दो संयोग

जनता से रिश्ता वेबडेस्क: शास्त्रों के मतानुसार, अंजनी पुत्र हनुमान जी का जन्म चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को हुआ था. इस लिए हर साल इस तिथि को हनुमान जयंती मनाई जाती है. इस साल यह तिथि 27 अप्रैल 2021 को पड़ रही है. अर्थात इस बार हनुमान जयंती 27 अप्रैल 2021 को मनाई जाएगी. हनुमान जयंती के दिन विधि-विधान से हनुमान की पूजा करने से उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है. ऐसी मान्यता है कि संकटमोचन हनुमान की कृपा से भक्तों के सभी संकट दूर हो जातें हैं, और भक्तों की सभी प्रकार की मनोकामना पूरी होती है.

इस बार 27 अप्रैल 2021 को मनाई जाने वाली हनुमान जयंती के अवसर पर कई शुभ योग और शुभ मुहूर्त बन रहें हैं. इस बार हनुमान जयंती के दिन सिद्धि योग और व्यतीपात योग बन रहें हैं. हनुमान जयंती के दिन सिद्धि योग शाम 08 बजकर 3 मिनट तक रहेगा. इसके बाद व्यतीपात लग जाएगा. ऐसी मान्यता है कि हनुमान जयंती के दिन हनुमान की पूजा करना सबसे उत्तम है. इस दिन पूजा करने से व्यक्ति को भय, ग्रह दोष और संकटो से मुक्ति प्राप्त होती है.
हनुमान भक्त को जयंती के दिन ये 5 उपाय जरूर करने चाहिए. इससे सभी प्रकार के संकटों से मुक्ति मिलती है और मान्यता के मुताबिक भक्त की मनोकामना भी पूरी होती है.
हनुमान जयंती के दिन भक्त को किसी भी हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी का दर्शन करना चाहिए और उनके सामने दीपक जलाकर हनुमान चालीसा का 11 बार पाठ करना चाहिए. इससे भगवान हनुमान प्रसन्न होते हैं और आपको जीवन की सभी समस्याओं से मुक्ति दिलाते हैं.
हनुमान जयंती पर भगवान हनुमान को गुलाब की माला अर्पित करना चाहिए. इससे उनकी कृपा हमेशा बनी रहती है.
पीपल के 11 पत्ते पर श्रीराम का नाम लिखकर इसे भगवान् को अर्पित करें. मान्यता है कि ऐसा करने से आपकी धन संबंधित समस्याएं दूर होगी और आपकी मनोकामना पूर्ण होगी.
हनुमान जयंती के अवसर पर पान का विशेष बीड़ा बनवाकर भगवान हनुमान को अर्पित करने से घर परिवार की समस्याएं दूर होती है. ध्यान रहे किए इस पान के बीड़ा में खोपरा बूरा, गुलकंद, बादाम कतरी जैसी चीजें जरूर रहे.
हनुमान जयंती के अवसर पर हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी के समक्ष एक सरसों के तेल का और एक शुद्ध घी का दीपक प्रज्वलित करें. इसके बाद वहां आसन लगाकर वहीं पर बजरंग बाण या फिर अन्य कोई हनुमान पाठ करने उनकी कृपा हमेशा बनी रहेगी.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it