धर्म-अध्यात्म

मासिक धर्म की अनियमितता के कारण, महिलाओं को उठानी पढ़ती है ये परेशानियां

Mahima Marko
5 Jan 2021 9:32 AM GMT
मासिक धर्म की अनियमितता के कारण, महिलाओं को उठानी पढ़ती है ये परेशानियां
x
आजकल तमाम महिलाओं में पीरियड से जुड़ी समस्याएं देखने को मिलती है,

जनता से रिश्ता बेवङेस्क| आजकल तमाम महिलाओं में पीरियड से जुड़ी समस्याएं देखने को मिलती है, हार्मोनल समस्याओं या किसी अन्य परेशानी की वजह से उनकी पीरियड साइकिल गड़बड़ा जाती है जिसके कारण कई बार उन्हें मातृत्व के सुख से भी वंचित होना पड़ता है. ऐसी समस्याएं चंद्र और मंगल की वजह से हो सकती हैं. इसके अलावा यदि शुक्र भी कमजोर हो तो पारिवारिक सुखों में कमी आती है. तमाम ज्योतिष विशेषज्ञों का कहना है कि चंद्र, मंगल और शुक्र ऐसे ग्रह हैं जो ज्यादातर महिलाओं के जीवन में परेशानियां खड़ी करते हैं. ऐसे में कुछ उपाय उनके लिए कारगर साबित हो सकते हैं.

पहले जानें इन ग्रहों के कमजोर होने के संकेत

यदि विषदोषयुक्त चंद्र के साथ शनि की युति हो तो महिला को तमाम मौकों पर अपमानित होना पड़ता है.वहीं चंद्र के बाद मंगल का सबसे ज्यादा प्रभाव हो तो मासिक धर्म की अनियमितता या इससे जुड़ी दूसरी परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है. इन हालातों में संतान प्राप्ति में परेशानियां आती हैं. साथ ही ऑपरेशन की स्थितियां भी पैदा हो सकती हैं. ऐसे में शुक्र भी कमजोर हो तो प्रेम संबन्धों में खटास और भौतिक सुखों में कमी रहती है.

ये है उपाय

1. विद्वानों का मानना है कि महिलाओं की कुंडली में गुरू बृहस्पति का विशेष महत्व होता है. अगर महिला अपने गुरू को मजबूत कर ले तो उसे तमाम ग्रहों की अशुभ स्थितियां परेशान नहीं कर पातीं. बृहस्पति को बेहतर बनाने के लिए गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा करें. तुलसी की माला से ओम नमो भगवते वासुदेवाय का जाप करें. जल में चुटकी भर हल्दी डालकर स्नान करें. गाय को आटे की लोई में चने की दाल, गुड़ और हल्दी रखकर खिलाएं.

2. वहीं चंद्र, मंगल और शुक्र के प्रभावों से बचने के लिए चांदी पहनना चाहिए.एकादशी या प्रदोष का व्रत रखना चाहिए. नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए. शुक्रवार के दिन सफेद चीजें जैसे दूध, दही, चावल, खीर आदि किसी गरीब को दान करनी चाहिए.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta