Top
धर्म-अध्यात्म

नवरात्र व्रत में यूं ही नहीं खाते सेंधा नमक, जानें क्या है महत्व

Subhi
19 Oct 2020 2:34 AM GMT
नवरात्र व्रत में यूं ही नहीं खाते सेंधा नमक, जानें क्या है    महत्व
x

नवरात्र व्रत में यूं ही नहीं खाते सेंधा नमक, जानें क्या है

महत्व

नवरात्र व्रत शुरू हो चुका है। इस दौरान व्रतीजन नौ दिन के व्रत में सेंधा नमक के साथ प्रसाद ग्रहण करते हैं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | नवरात्र व्रत शुरू हो चुका है। इस दौरान व्रतीजन नौ दिन के व्रत में सेंधा नमक के साथ प्रसाद ग्रहण करते हैं। आपने कभी सोचा है क‍ि व्रत में आख‍िर सेंधा नमक का ही इस्‍तेमाल क्यूं क‍िया जाता है? अगर आप भी ऐसा सोच रहे हैं तो इस आर्टिकल में आपको इस बात का जवाब म‍िल जाएगा। आइए जानते हैं…

सेंधा नमक के प्रयोग का धार्मिक कारण

व्रत में सेंधा नमक के प्रयोग का धार्मिक कारण इसका पूर्णतया शुद्ध होना माना जाता है। जी हां सेंधा नमक शुद्ध नमक होता है जबकि साधारण नमक कई केमिलकल प्रॉसेज से गुजर कर घर तक पहुंचता है। सेंधा नमक पहाड़ी नमक कहा जाता है यानी ये चट्टी नमक होता है। इसमें कोई मिलावट नहीं होती है और ये प्राकृत‍िक होता है। जैसे की फलाहार। यही नहीं इस व्रत में और भी कई खूबियां हैं।

इसल‍िए क्रोध‍ित हुई थीं देवी व‍िंध्‍यवास‍िनी और द‍िया था पर्वत को कोढ़ी होने का शाप, जानें पूरा रहस्‍य

सेंधा नमक में होती हैं यह भी खूब‍ियां

व्रत के दौरान या तो बहुत कम खाया जाता है या फिर केवल फलाहार क‍िया जाता है। एक द‍िन के व्रत में तो यह संभव है। लेक‍िन जब नौ द‍िनों के व्रत की बात हो तो उसमें नमक की जरूरत केवल हमारे जीभ को ही नहीं शरीर को भी होती है। सेंधा नमक व्रत में हमारे पाचनतंत्र को सही रखने के साथ पेइ को ठंडक भी देता है। सेंधा नमक पोषक तत्वों और खनिज तत्वों को अवशोषित करता है। ऐसे में व्रत के समय शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स को बनाए रखता है जो आपको दिन भर ऊर्जावान बनाए रखने में मदद करता है।

4/5सेहत को होता है लाभ ही लाभ

शारदीय नवरात्र के साथ ही मौसम में भी बदलाव शुरू होने लगता है। ऐसे में इस वक्त व्रत में ऐसे खानपान रखना चाहिए जो इम्युन सिस्‍टम को मजबूत रखे। ताकि सामान्य रोगों से हमारे शरीर की रक्षा हो सके। बता दें क‍ि सेंधा नमक में साधारण नमक की अपेक्षा सोडियम की मात्रा कम होती है और ऑयरन, पोटेशियम और मैग्नीशियम की मात्रा अधिक। इसलिए ये हाई बीपी, दिल की बीमारी और मसल्स के ऐंठन को ठीक करने वाला होता है। वहीं अगर आंखों की सूजन की समस्‍या हो तो यह उसे कम करने में सहायक स‍िद्ध होता है।

नवरात्र में भूलकर भी नहीं करने चाह‍िए ये काम, नहीं म‍िलती मां भवानी की कृपा

यूं चुटक‍ियों में दूर हो जाती है सारी टेंशन

सेंधा नमक शरीर में सेरोटोनिन और मेलाटोनिन हार्मोंस के संतुलन को बनाए रखने में मददगार होता है। ये हार्मोंस तनाव से लड़ने वाले होते हैं। क्‍योंक‍ि व्रत में कई बार भूख के कारण भी स्‍ट्रेस होता है ऐसे में सेंधा नमक खाने से स्‍ट्रेस भी कम होता है। यही नहीं सेंधा नमक के प्रयोग से वेट भी कम होता है। क्‍योंक‍ि ये बॉडी से फैट सेल्स को हटाने में मदद करता है। साथ ही भूख को भी कंट्रोल करता है। यह बॉडी में पीएच लेवल को बनाए रखने में भी महत्‍वपूर्ण भूम‍िका अदा करता है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it