धर्म-अध्यात्म

दांपत्य जीवन को सुखी रखने के लिए पत्नी से न करें ये 4 बातें

Bhumika Sahu
24 Jun 2022 4:01 AM GMT
दांपत्य जीवन को सुखी रखने के लिए पत्नी से न करें ये 4 बातें
x
दांपत्य जीवन को सुखी

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। रिलेशनशिप. कहा जाता है पति-पत्नी का रिश्ता तब ज्यादा मजबूत होता है जब उनके बीच कोई राज ना हो। लेकिन दुनिया भर के लगभग हर पति अपनी पत्नी से कुछ ना कुछ छिपाता है। हालांकि इस आदत को गलत माना जाता है। लेकिन चाणक्य नीति में पुरुषों की इस आदत को समर्थन दिया गया है। दरअसल चाणक्य नीति के अनुसार वैवाहिक जीवन को सुखी रखने के लिए पतियों को कुछ बातें पत्नियों ने नहीं शेयर करनी चाहिए। चाणक्य नीति में जीवन से जुड़े कुछ बातों को पार्टनर से शेयर करने से बचने को कहा गया है। आइए जानते हैं वो कौन-कौन सी बाते हैं...

1. वीकनेस को पत्नी से ना शेयर करें
चाणक्य नीति में के अनुसार पतियों को भूलकर भी पत्नियों से अपनी कमजोरी को बताने से मना किया गया है। पत्नी अपने पति के वीकनेस को जानकर अक्सर अपनी बात मनवाने लगती हैं। वो उनकी कमजोरी का फायदा उठा सकती हैं।
2. अपमान के बारे में जिक्र ना करें
आचार्य चाणक्य के नीति शास्त्र में जिक्र किया गया है कि पति को कभी भी पत्नी सो अपने हुए अपमान के बारे में नहीं बताना चाहिए। अगर पत्नी को इसका पता चलता है तो वो कभी ना कभी इसे लेकर ताना जरूर दे सकती हैं। जिसेस आपको ज्यादा तकलीफ हो सकती है।
3. पूरी कमाई बताने से किया गया है मना
चाणक्य नीति में पति को अपनी पत्नी से पूरी कमाई की जानकारी देने से भी मना किया गया है। कुछ हसबैंड अपने इनकम के बारे में वाइफ को भरोसा करके बता देते हैं। जिसकी वजह से पत्नी पति की कमाई को कंट्रोल करती हैं। फिजूल खर्ची से रोकने की कोशिश करती है। इसलिए पति को पत्नी से अपनी पूरी कमाई नहीं बतानी चाहिए।
4. दान के बारे में ना बताएं
चाणक्य नीति में कहा गया है कि दान की अहमियत तभी होती है जब उसे गुप्त रखा जाता है। इसलिए पति को दान के बारे में पत्नी से नहीं बताना चाहिए। इससे दान का महत्व तो कम होता है। साथ इस बात पर भी लड़ाई हो सकती है कि बेवजह के पैसे खर्च किए जा रहे हैं। पत्नी खर्च की दुहाई देककर बुरा भला कह सकती है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta