धर्म-अध्यात्म

Chanakya Niti : आचार्य चाणक्य ने किन लोगों से मित्रता न करने की सलाह दी है…जाने

Bhumika Sahu
7 Dec 2021 3:13 AM GMT
Chanakya Niti : आचार्य चाणक्य ने किन लोगों से मित्रता न करने की सलाह दी है…जाने
x
आचार्य चाणक्य प्रकांड विद्वान थे. उन्होंने अपने जीवन में काफी कठिन समय देखा, लेकिन किसी भी परिस्थिति को खुद पर हावी नहीं होने दिया. उन्होंने अपनी नीति में बताया है कि हमें किन लोगों से दूर रहना चाहिए.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। आचार्य चाणक्य की नीति के बारे में जो भी कहा जाए कम है. चाणक्य को मौर्य वंश का संस्थापक भी कहा जाता है. आचार्य चाणक्य अपने ज्ञान और तेजी बुद्धि के लिए जाने जाते हैं. यही कारण है कि उनकी बुद्धि कौशल का ही नतीजा था कि उन्होंने पूरे नंदवंश का नाश करके एक साधारण से बालक को राजगद्दी पर बैठा दिया था. आचार्य ने अपने जीवन में कई तरह की परेशानियों को झेला था, लेकिन उन्होंने कभी हालातों से हार नहीं थी, और यही कारण था कि वह हर स्थिति से कुछ न कुछ सीखते थे और उसे अवसर में बदलने का प्रयास करते थे.

उनके इस स्वभाव और तीक्ष्ण बुद्धि ने उन्हें महान कूटनीतिज्ञ, राजनीतिज्ञ, अर्थशास्त्री, समाजशास्त्री बना दिया. आचार्य ने तक्षशिला विश्वविद्यालय में शिक्षा हासिल करने के बाद वहां काफी समय तक अध्यापन कार्य किया और तमाम शिष्यों का भविष्य संवारा. ये कहना गलत नहीं होगा कि सालों पहले चाणक्य ने अपनी नीति मे आज के समय पर काफी कुछ लिखा था. उन्होंने बताया था कि हमको किन लोगों से दूर रहना चाहिए.
परम ज्ञानी आचार्य चाणक्य अपनी नीतियों के लिए आज भी जाने जाते हैं. आचार्य चाणक्य की नीतियों का पालन करने वाला व्यक्ति जीवन में कभी भी असफल नहीं हो सकता है. आपको बता दें कि आचार्य चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को कुछ लोगों से हमेशा दूरी बनाए रखनी चाहिए. इन लोगों के साथ रहने से जीवन बर्बाद हो सकता है. आइए जानते हैं आचार्य चाणक्य ने किन लोगों से मित्रता न करने की सलाह दी है…
जानिए किन लोगों से रहना चाहिए दूर
गलत आदतों वाले लोगों से दूर रहें
आचार्य चाणक्य के अनुसार हर एक व्यक्ति को हमेशा गलत आदतों वाले लोगों से जितना हो सके दूर ही रहना चाहिए. दरअसल गलत आदतों वालों लोगों के साथ रहने से जीवन बर्बाद हो सकता है. इसलिए अगर जीवन में सफलता पाना है तोअच्छी संगत का होना बहुत जरूरी है.
लालची लोगों से रहें दूर
आचार्य चाणक्य के अनुसार जीवन में सफलता पाना चाहते हैं तो हमेशा ही व्यक्ति को लालची लोगों से दूर रहना चाहिए. क्योंकि लालची व्यक्ति कभी भी आपका अपना नहीं हो सकता है, ऐसे व्यक्ति केवल मतलबी होते हैं. ये लोग मतलब निकल जाने के बाद सबका साथ छोड़ देते हैं.
बुरे वक्त पर जो साथ न दें
आचार्य चाणक्य के अनुसार सच्चा मित्र हमेशा ही वही होता है जो आपके बुरे वक्त में भी साथ देता है. ऐसे व्यक्ति से हमेशा दूर रहना चाहिए जो बुरे वक्त में साथ न दें. आपके अच्छे वक्त में तो हर कोई आपका साथ देगा लेकिन बुरे वक्त में सच्चा मित्र ही आपका साथ देगा.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta