धर्म-अध्यात्म

शादी के बाद ससुराल में सुख से बीते बेटी का वैवाहिक जीवन, करें ये आसान उपाय

Kunti
25 Nov 2021 2:25 PM GMT
शादी के बाद ससुराल में सुख से बीते बेटी का वैवाहिक जीवन, करें ये आसान उपाय
x
शादी के बाद माता-पिता फूल सी नाजुक अपनी बेटी को ऐसे परिवार को सौंप देते हैं,

आसान से ज्‍योतिषीय उपाय: शादी के बाद माता-पिता फूल सी नाजुक अपनी बेटी को ऐसे परिवार को सौंप देते हैं, जिनसे वह पहले कभी नहीं मिली होती। नहीं जानती कि शादी के बाद उसका जीवन कैसा बीतेगा। बस वो तो बाबुल का आंगन छोड़कर किसी दूसरे की बगिया को म‍हकाने के लिए चली आती है। माता-पिता भी यह सोच-सोचकर चिंतित रहते हैं कि शादी के बाद उनकी बेटी को वह सुख मिलेगा भी या नहीं कि जैसा उन्‍होंने सोचा था। पर ये तो दुनिया की रीति है कि बेटियों को एक दिन दूसरे घर जाना ही है। बेटी का जीवन सुख से बीते इसके लिए हम आपको बताने जा रहे हैं आसान से ज्‍योतिषीय उपाय, जिनको करना आपके लिए फायदेमंद होगा।

कन्‍या की विदाई के वक्‍त करें ऐसा
विवाह के बाद बेटी की विदाई के वक्‍त किसी पीले रंग के पात्र में गंगाजल लेकर उसमें थोड़ी सी हल्‍दी मिला लें। इस जल में एक तांबे का सिक्‍का डालकर उसे कन्‍या के ऊपर से सात बार उतारकर उसके आगे फेंक दें। ऐसा करने से कन्‍या को ससुराल में भी सुख मिलेगा और वह हमेशा खुश रहेगी।
विवाह से पहले करें यह उपाय
विवाह होने से 4 दिन पहले हल्‍दी की 7 साबुत गांठ लेकर, पीतल के 3 सिक्‍के या टुकड़े लेकर, थोड़ी सी केसर, थोड़ा सा गुड़ और चने की दाल किसी पीले कपड़े में बांधकर कन्‍या की ससुराल की दिशा में फेंक दें। आपके ऐसा करने से आपकी बेटी ससुराल में सुखी जीवन व्‍यतीत करेगी और उसे सास-ससुर का भरपूर प्‍यार मिलेगा। इसके अलावा कन्‍या की मां, मौसी, ताई या फिर चाची कन्‍या की ससुराल की दिशा में काली उड़द में मेंहदी मिलाकर फेंक दें तो भी बेटी को किसी तरह की परेशानी नहीं होगी।
पति के साथ स्‍वभाव नहीं खाता मेल
यदि पति के साथ स्‍वभाव में भिन्‍नती वजह से आप खुश नहीं रह पा रही हैं तो शुक्‍ल पक्ष के प्रथम गुरुवार को प्रात: स्‍नान करके पीले वस्‍त्र धारण करें। तांबे के लोटे में जल भरकर उसमें गुड़ और पिसी हल्‍दी मिलाएं। अब ए‍क नारियल, आटे की दो लोई, चने की दाल और थोड़ा सा गुड़ लें। अब किसी केले के वृक्ष के पास सारी सामग्री लेकर जाएं। वृक्ष पर हल्‍दी से तिलक करें। उसके बाद लोटे में लाए जल से वृक्ष को सींचें। फिर अगरबत्‍ती और धूप दिखाएं और देवगुरु से अपनी समस्‍या को लेकर प्रार्थना करें। जो पूजन सामग्री साथ लेकर गए थे, उसमें से आटे की लोई और चने की दाल व गुड़ गाय को खिला दें। नारियल को घर में किसी शुद्ध स्‍थान पर रख दें।
संतान सुख न मिल पाने की वजह से होती है लड़ाई
अगर आप और आपके जीवनसाथी के बीच संतान सुख न मिल पाने की वजह से लड़ाई होती है आप दोनों को केसर का सेवन करना चाहिए। जब भी किसी छोटे बच्‍चे की सालगिरह में जाएं तो उसे पीले रंग के वस्‍त्र भेंट करें और प्रेम भावना के साथ उसके सिर पर हाथ फेरते हुए भगवान से प्रार्थना करें कि हे प्रभु मुझे भी ऐसी ही संतान दें।
शारीरिक अक्षमता के कारण दांपत्‍य जीवन सुखी न हो तो
किसी भी मंगलवार को एक साबुत नींबू लें और उसे हींग के पानी से धो लें। उसके बाद इसमें एक लौंग का जोड़ा घुसा दें। अब इस नींबू के साथ थोड़ी सी हींग लेकर काले वस्‍त्र में बांधकर जीवनसाथी के सिर पर से 21 बार उतारकर इस पोटली को नारियल के साथ किसी बहते जल के स्रोत में प्रवाहित कर दें। उसके बाद पीछे मुड़कर न देखें और घर में अंदर जाने से पूर्व हाथ-पैर अवश्‍य धोएं। इस उपाय से यदि आपके जीवनसाथी को कोई शारीरिक रोग होगा तो भी वह समाप्‍त हो जाएगा।
आर्थिक स्थिति सही करने के लिए
यदि आर्थिक स्थिति सही न हो पाने की वजह से आपके दांपत्‍य जीवन में सुख की कमी है तो सोमवार को अशोक के 9 पत्‍ते लेकर उसका गुच्‍छा बनाएं। इस प्रकार के 21 गुच्‍छों का बंदनवार बनाकर उसे मुख्य द्वार पर लगाएं। अगले सोमवार को पुराना बंदनवार हटाकर नया लगा दें। ऐसा लगातार 9 हफ्ते तक करें तो आपकी आर्थिक स्थिति सुधरेगी और आपका दांपत्‍य जीवन सुखमय होगा।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it