झारखंड

5 अप्रैल को नक्सलियों ने की झारखंड बंद की घोषणा, पुलिस प्रशासन अलर्ट

Renuka Sahu
4 April 2022 3:15 AM GMT
5 अप्रैल को नक्सलियों ने की झारखंड बंद की घोषणा, पुलिस प्रशासन अलर्ट
x

फाइल फोटो 

झारखंड में नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने आगामी 5 अप्रैल को बंद का एलान किया गया है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। झारखंड (Jharkhand) में नक्सली संगठन (Naxalite organization) भाकपा माओवादी ने आगामी 5 अप्रैल को बंद का एलान किया गया है. इसको लेकर राज्य के सभी जिलों को हाई अलर्ट (High Alert) पर रखा गया है. वहीं, नक्सली संगठन की सेंट्रल कमेटी ने इसे लेकर बकायदा पब्लिक नोटिस जारी किया है. इस बंद का आह्वान भाकपा माओवादियों की सेंट्रल कमेटी और पूर्वी रिजनल ब्यूरो के मेंबर अरुण कुमार भट्टाचार्य ऊर्फ कंचन दा ऊर्फ कबीर की गिरफ्तारी के विरोध में किया गया है. इस दौरान माओवादियों की मांग है कि अरूण को राजनीतिक कैदी का दर्जा दिया जाएगा. हालांकि, माओवादियों के प्रवक्ता के द्वारा बंद के ऐलान के बाद से राज्य पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के SP को अलर्ट रहने का निर्देश दिया है.

दरअसल, नक्सलियों के इस ऐलान को लेकर झारखंड राज्य की पुलिस अलर्ट हो गई है. इस दौरान झारखंड पुलिस मुख्यालय ने इस संबंध में सभी जिलों के एसपी को सूचित करते हुए एहतियाती तौर पर गश्त बढ़ाने का निर्देश दिया है. साथ ही सुरक्षाबलों के प्रतिष्ठान, नक्सली इलाके में पड़ने वाले केंद्रीय प्रतिष्ठान, रेलवे की सुरक्षा के लिए विशेष एहतियाती कदम उठाने के निर्देश पुलिस मुख्यालय ने जारी किए हैं.
बीते महींने पहले अरुण कुमार भट्टाचार्य को किया गया था गिरफ्तार
वहीं, अरुण कुमार भट्टाचार्य को पिछले महीने असम में गिरफ्तार किया गया था. उसे माओवादियों की मौजूदा सेंट्रल कमेटी का थिंक टैंक माना जाता है. भाकपा माओवादियों के प्रवक्ता अभय और संकेत की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि कंचन दा के साथ पुलिस अमानवीय व्यवहार कर रही है. जहां पर गंभीर रूप से बीमार होने के बावजूद उनका समुचित इलाज नहीं कराया जा रहा है. इस पत्र में भट्टाचार्य की रिहाई की मांग की गई है.इस दौरान अरुण कुमार भट्टाचार्य पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले के शिवपुर, शालीमार रोड का रहने वाला है. वह पिछले 15 सालों से माओवादियों की शीर्ष कमेटी में शामिल रहा है. असम और नार्थ ईस्ट रीजन के प्रभारी के रूप में वह झारखंड, बिहार बंगाल और असम में सक्रिय रहा है.
नक्सली संगठन ने कई हिंसक वारदातों की रणनीति बनाई
गौरतलब है कि हाल ही में झारखंड में गिरफ्तार किए गए बड़े नक्सलियों से पूछताछ में उसके बारे में पुलिस ने जो जानकारी जुटाई है, उसके मुताबिक उसने संगठन की ओर से अंजाम दिए गए कई हिंसक वारदातों की रणनीति बनाई थी. इस दौरान पुलिस और सुरक्षा बलों पर हमले की योजनाओं में भी उसका हाथ रहा है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta