Top
विज्ञान

नासा ने बताया...छोटा ऐस्टरॉइड 2018VP1 से धरती को कितना खतरा

Janta se Rishta
26 Aug 2020 10:57 AM GMT
नासा ने बताया...छोटा ऐस्टरॉइड 2018VP1 से धरती को कितना खतरा
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। वॉशिंगटन : कुछ दिन पहले यह खबर आई थी कि अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से एक दिन पहले, 2 नवंबर को कार एक छोटा ऐस्टरॉइड धरती की ओर आएगा। इसे लेकर आशंका जताई गई थी कि इसके धरती से टकराने की संभावना है। अब अमेरिका की स्पेस एजेंसी NASA ने साफ किया है कि अगर यह टक्कर होती है तो इससे धरती को कितना नुकसान होगा।

इसलिए नहीं है कोई खतरा
NASA ने बताया है कि ऐस्टरॉइड 2018VP1 बेहद छोटा है। इसका आकार करीब 6.5 फीट बड़ा है और इससे धरती को कोई खतरा नहीं है। धरती के वायुमंडल में इसके दाखिल होने की संभावना 0.41% है लेकिन अगर यह दाखिल होता भी है तो भी इससे नुकसान की आशंका कम है। ऐसा इसलिए है क्योंकि छोटे आकार की वजह से यह वायुमंडल में दाखिल होने के साथ ही टूटकर जल जाएगा।

https://twitter.com/AsteroidWatch/status/1297576303206576133?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1297576303206576133%7Ctwgr%5E&ref_url=https%3A%2F%2Fnavbharattimes.indiatimes.com%2Fworld%2Fscience-news%2Fnasa-explains-how-dangerous-asteroid-2018vp1-could-be-if-it-collides-with-earth-a-day-before-us-presidential-elections%2Farticleshow%2F77748443.cms

रोज गिरती है टनों धूल
2018VP1 Apollo ऐस्टरॉइड की श्रेणी में आता है। ये धरती के पास मौजूद ऐसे ऐस्टरॉइड होते हैं जिनका ऑर्बिट (कक्षा) धरती से बड़ा होता है लेकिन ये फिर भी धरती की कक्षा में आ जाते हैं। ऐसा पहला ऐस्टरॉइड Apollo 1862 में खोजा गया था। NASA का कहना है कि धरती पर हर रोज ऐसी टनों धूल गिरती है और 2018VP1 के आकार के ऐस्टरॉइड कोई भी नुकसान पहुंचाने के लिए बेहद छोटे हैं।

NASA रखता है खतरे पर नजर
इस ऐस्टरॉइड की खोज 2018 में कैलिफॉर्निया की पालोमर ऑब्जर्वेटरी में की गई थी। इसके छोटे आकार की वजह से इसे Potentially Hazardous Objects की लिस्ट में नहीं रखा गया है। NASA की Sentry Risk Table में ऐसे खतरनाक Asteroids पर नजर रखी जाती है ताकि भविष्य में इनसे होने वाले खतरे से बचा जा सके।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it