Top
विज्ञान

ग्रीनलैंड: बर्फ के पहाड़ का विशालकाय हिस्सा उत्तरी-पूर्वी आर्कटिक में टूटा, 110 वर्ग किलोमीटर होगा बड़ा

Janta se Rishta
15 Sep 2020 9:50 AM GMT
ग्रीनलैंड: बर्फ के पहाड़ का विशालकाय हिस्सा उत्तरी-पूर्वी आर्कटिक में टूटा, 110 वर्ग किलोमीटर होगा बड़ा
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। ग्रीनलैंड में स्थित बर्फ के पहाड़ का एक बड़ा हिस्सा उत्तरी-पूर्वी आर्कटिक में टूट गया है। वैज्ञानिकों का मानना है कि यह तेजी से हो रहे जलवायु परिवर्तन का साक्ष्य है।

नेशनल जिओलॉजिकल सर्वे ऑफ डेनमार्क एंड ग्रीनलैंड ने सोमवार को बताया कि हिमनद का जो हिस्सा टूटा है वह 110 वर्ग किलोमीटर बड़ा है। यह एक बड़े पहाड़ से टूटा है जो करीब 80 किलोमीटर लंबा और 20 किलोमीटर चौड़ा है।

https://twitter.com/CopernicusEU/status/1305445152073416709?ref_src=twsrc^tfw|twcamp^tweetembed|twterm^1305445152073416709|twgr^share_3&ref_url=https://www.amarujala.com/world/biggest-part-of-iceberg-breaks-from-greenland-glacier

हिमनद उत्तरी-पूर्वी ग्रीनलैंड आइस स्ट्रीम के अंत में है, जहां से वह जमीन से समुद्र में प्रवेश करेगा।

जीईयूएस नामक सर्वेक्षण के अनुसार, उत्तरी-पूर्वी ग्रीनलैंड में स्थित आर्कटिक के सबसे बड़े बर्फ के पहाड़ के पिघलने की वार्षिक दर पर ऑप्टिकल सेटेलाइट इमेजरी (उपग्रह से ली जाने वाली तस्वीरें) की मदद से नजर रखी जाती है।

1999 से अभी तक इस पहाड़ से 160 वर्ग किलोमीटर का हिमनद टूट चुका है जो न्यूयॉर्क में मैनहाटन के क्षेत्रफल से दोगुना है।

https://jantaserishta.com/news/many-astrophysicists-claim-life-signs-are-found-in-venuss-clouds-this-is-the-reason/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it