Top
विश्व

तैल टैंकर में लगी आग को काबू करने की दूसरे दिन भी कोशिश जारी, क्रू के 22 लोगों की बचाई जान

Janta se Rishta
4 Sep 2020 2:49 PM GMT
तैल टैंकर में लगी आग को काबू करने की दूसरे दिन भी कोशिश जारी, क्रू के 22 लोगों की बचाई जान
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। श्रीलंका की नौसेना ने भारतीय तटरक्षक बल से तेल के टैंकर 'एमटी न्यू डायमंड' पर लगी आग को बुझाने के लिए मदद मांगी थी। यह टैंकर श्रीलंका के तट से पूर्व की ओर 37 नॉटिकल्स माइल की दूरी पर था। भारतीय तटरक्षक बल ने आग बुझाने और तेल फैलने से रोकने के उपायों के लिए अपने संसाधनों की तैनाती की है।

मदद के लिए पहुंचे भारतीय तटरक्षक बल के जहाजों ने तेल टैंकर में लगी आग को सफलतापूर्वक बुझा दिया है। तटरक्षक जहाज शौर्य लगातार आग बुझाने और उसके तीन टग उसे ठंडा करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि आग की लपटें दोबारा न उठें।

22 out of 23 crew onboard Sri Lankan oil tanker MT New Diamond have been  rescued safely

बता दें कि यह जहाज कुवैत से कच्चा तेल लेकर भारत आ रहा था। श्रीलंका के पूर्वी तट के पास गुरुवार को इसमें भीषण आग लग गई। इसके बाद उसमें सवार नौवहन चालक दल के 24 सदस्य लापता और अन्य घायल हो गए। नौसेना के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी।
श्रीलंका की नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन इंडिका सिल्वा ने बताया कि पनामा में पंजीकृत टैंकर 'न्यू डायमंड' कुवैत से 2,70,000 मीट्रिक टन कच्चा तेल ले कर भारत जा रहा था। लेकिन पूर्वी जिले अंपारा में संगमनकंडा के तट पर इसके इंजन कक्ष में आग लग गई।

समु्द्री पर्यावरण सुरक्षा प्राधिकरण (एमईपीए) ने कहा कि तेल टैंकर कुवैत से 2,70,000 मीट्रिक टन तेल लेकर भारत जा रहा था। एमईपीए के अध्यक्ष धर्षानी लहांदापुरा ने बताया कि आग बुझाने के लिए नौसैनिक पोतों को 1,00,000 लीटर पानी मुहैया कराया गया। सहायता करने के लिए श्रीलंका वायु सेना को भी तैनात किया गया।

भारतीय तटरक्षक बल ने राहत अभियान में पोत और विमान तैनात किए
भारतीय तटरक्षक बल ने शुक्रवार को कहा कि उसने आग बुझाने और तेल फैलने से रोकने के उपायों के लिए अपने संसाधनों की तैनाती की है। एक रक्षा विज्ञप्ति में यहां कहा गया कि भारतीय तटरक्षक बल ने तिरुक्कोविल (दक्षिण पूर्वी श्रीलंकाई तट) से करीब 37 समुद्री मील पूर्व में एमटी न्यू डायमंड पोत के चालक दल के 23 सदस्यों को बचाने के लिए अपने पोतों और विमान को तैनात किया है।

इसमें कहा गया, 'संयुक्त प्रयास के बाद हादसे का शिकार हुए पोत के चालक दल के 22 सदस्यों को बचा लिया गया है। भारतीय तटरक्षक बल ने गश्त कर रहे शौर्य और सारंग नाम के अपने दो पोतों को अग्नि शमन और अन्य सहायता के लिये भेजा है।'

भारतीय तटरक्षक पोत सुजय को भी हेलिकॉप्टरों और गोताखारों के साथ रवाना किया गया है। इसके अलावा प्रदूषण रोकने के काम आने वाला पोत ‘समुद्र पहरेदार’ भी तेल का प्रसार रोकने में मदद के लिए विशाखापत्तनम से रवाना हो गया है। इसमें कहा गया कि तटरक्षक के डोर्नियर विमान को चेन्नई में तैनात किया है जिससे इलाके की निगरानी की जा सके।

https://jantaserishta.com/news/pakistan-exposed-another-nefarious-move-of-pakistan-india-wants-to-keep-news-of-every-movement-of-fighter-ships-revealed-in-this-way/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it