भारत

खतरे की घंटी : प्रदूषण की वजह से बढ़ रही ग्लोबल वार्मिंग, बुरे हाल में है हमारी धरती

Janta se Rishta
26 Aug 2020 11:41 AM GMT
खतरे की घंटी : प्रदूषण की वजह से बढ़ रही ग्लोबल वार्मिंग, बुरे हाल में है हमारी धरती
x

हमारी धरती बुरे हाल में है. बढ़ते प्रदूषण की वजह ग्लोबल वार्मिंग बढ़ रही है. जिसका असर धरती के हर कोने पर पड़ रहा है. इसी नतीजा ये है कि धरती के वो कोने भी अब पिघल रहे हैं जहां कभी बर्फ के बड़े-बड़े पहाड़ हुआ करते थे. पिछले 26 साल में धरती से 28 ट्रिलियन टन बर्फ खत्म हो चुकी है. यानी 28,000,000,000,000,000 किलोग्राम बर्फ खत्म हो चुकी है.

Earth has lost 28 trillion tonnes of ice

ब्रिटिश वैज्ञानिकों की एक टीम ने अध्ययन कर यह खुलासा किया है. इस टीम की रिपोर्ट के मुताबिक साल 1994 से लेकर अब तक 28 ट्रिलियन टन बर्फ खत्म हो चुकी है. वैज्ञानिकों ने इस अध्ययन के लिए सैटेलाइट इमेज, पोल्स के बर्फ की डिटेल, पहाड़ों और ग्लेशियरों पर जमे बर्फ का डाटा लेकर उसका विश्लेषण किया. अध्ययन में पता चला कि बढ़ते हुए वैश्विक तापमान की वजह से बर्फ तेजी से पिघल रही है.

Earth has lost 28 trillion tonnes of ice

वैज्ञानिकों की यह रिपोर्ट क्रायोस्फेयर डिस्कशंस नाम की साइंस मैगजीन में प्रकाशित हुई है. अगर इसी तरह से बर्फ तेजी से पिघलती रहेगी तो धरती सूर्य की रोशनी को रिफलेक्ट नहीं कर पाएगा. जिससे सूरज की अल्ट्रवायलेट किरणों के जमावड़े से धरती पर रहने वाले जीव-जंतुओं को नुकसान होगा. सोलर रेडिएशन को वापस भेजने में ये बर्फ बहुत मदद करती है. लेकिन बर्फ ही नहीं रहेगी तो सोलर रेडिएशन से हमें कौन बचाएगा.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it