Top
विश्व

चीन ने नई उपलब्धि के साथ अमेरिकी स्पेस इंडस्ट्री को छोड़ा पीछे

Janta se Rishta
15 Sep 2020 7:17 AM GMT
चीन ने नई उपलब्धि के साथ अमेरिकी स्पेस इंडस्ट्री को छोड़ा पीछे
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | चीन ने अमेरिकी स्पेस इंडस्ट्री को पीछे छोड़ते हुए एक नई उपलब्धि हासिल की है. उसने तैरने वाला स्पेसपोर्ट बनाया है. यानी ऐसा जहाज जहां से अंतरिक्ष में जाने वाले रॉकेट्स लॉन्च किए जा सकते हैं. इसका उपयोग चीन प्रशांत महासागर में रॉकेट लॉन्च के लिए करेगा. ताकि अपने सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में कम समय में लॉन्च कर सके.

चीन के इस तैरने वाले स्पेसपोर्ट (Floating Spaceport) का नाम है ईस्ट एयरोस्पेस पोर्ट (East Aerospace Port). इसका पहला परीक्षण मंगलवार को शैंडोंग प्रांत के तटीय शहर हैयांग के पास समुद्र में किया गया. इस स्पेसपोर्ट पर छोटे रॉकेट बनाए और सुधारे जा सकते हैं. इसे चाइना एयरोस्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी कॉर्प (CASC) ने बनाया है.

China creates Floating Spaceport for Rocket Launches

यूनिवर्स टुडे में प्रकाशित खबर के मुताबिक निकट भविष्य में चीन अपने कई महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स इसी स्पेसपोर्ट से लॉन्च करेगा. क्योंकि यह ज्यादा सुरक्षित है. यहां से छोटे रॉकेट, हल्के अंतरिक्षीय वाहन (Light Spacecraft), सैटेलाइट्स और अन्य अंतरिक्षीय तकनीकों का परीक्षण और लॉन्चिंग की जाएगी. मंगलवार को इस स्पेसपोर्ट से लॉन्ग मार्च-11 (Long March 11-HY2) रॉकेट दागा गया. इसमें 9 सैटेलाइट्स थे. यह एक परीक्षण था लॉन्च पैड का जो सफल रहा है.

China creates Floating Spaceport for Rocket Launches

चाइना एकेडमी ऑफ लॉन्च व्हीकल टेक्नोलॉजी (CALT) के प्रमुख वांग जियाओजुन ने कहा कि हमने एक बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल की है. इसके साथ ही चीन के पास अब अंतरिक्ष में रॉकेट लॉन्च करने के लिए पांच लॉन्च साइट्स हो गए हैं. अंतरिक्ष विज्ञान की दुनिया में समुद्र के बीच से रॉकेट लॉन्च करना आज के समय में नई टेक्नोलॉजी है.

China creates Floating Spaceport for Rocket Launches

अमेरिकी स्पेस टेक्नोलॉजी कंपनी स्पेस एक्स (SpaceX) ने पहले घोषणा की थी कि वो तैरते हुए लॉन्चपैड से अपने स्टारशिप को लॉन्च करेगा. लेकिन अभी तक स्पेस एक्स का तैरता हुआ लॉन्चपैड तैयार नहीं हुआ है. तैरते हुए लॉन्चपैड्स का फायदा ये होता है कि लॉन्च के समय होने वाले तेज आवाज से आसपास के रिहायशी इलाकों के लोगों को दिक्कत नहीं होती.

China creates Floating Spaceport for Rocket Launches

चीन इस सफल परीक्षण के बाद अब इस साल के अंत तक पांच और सैटेलाइट्स इस लॉन्च पैड से भेजने की योजना बना चुका है. इसके पहले चीन ने जमीनी लॉन्चपैड्स से कई लॉन्च किए. ये लॉन्चपैड्स शिचांग (दक्षिण-पश्चिम), जिउकुआन (उत्तर-पश्चिम), ताइयुआन (उत्तर) और तटीय साइट वेनचांग और दक्षिण में हैनान के पास द्वीप पर मौजूद हैं.

पिछले हफ्ते चीन के स्पेस प्रोजेक्ट को एक झटका लगा था. क्योंकि उनके एक रॉकेट का बूस्टर रॉकेट से अलग होने के बाद एक कस्बे में गिरा था. उसके बाद वहां विस्फोट कर गया था. ये कस्बा शांसी प्रांत में था. किस्मत अच्छी थी कि जहां बूस्टर फटा उससे थोड़ी दूरी पर ही एक स्कूल था. इस विस्फोट से नारंगी रंग का धुआं निकला था. ये नहीं पता चला कि इस घटना में कोई घायल हुआ या नहीं.

https://jantaserishta.com/news/china-shocked-at-un-india-becomes-member-of-ecosoc-for-four-years/

https://jantaserishta.com/news/corona-removes-bride-groom-matter-reached-to-union-minister-know-big-things/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it