खेल

जन्मदिन विशेष: रणजीत सिंह को अपनी टीम में लेने के लिए आपस में भिड़ गए थे अंग्रेज, एसे शॉट का ईजाद कर बरसाए थे ढरों रन

Janta se Rishta
10 Sep 2020 4:02 AM GMT
जन्मदिन विशेष: रणजीत सिंह को अपनी टीम में लेने के लिए आपस में भिड़ गए थे अंग्रेज, एसे शॉट का ईजाद कर बरसाए थे ढरों रन
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क|भारतीय क्रिकेट के इतिहास में आज (10 सितंबर) का दिन बेहद खास है. 1872 में आज ही के दिन हिंदुस्‍तान के महान क्रिकेटरों में शुमार कुमार श्री रणजीत सिंहजी का काठियावाड़ में जन्म हुआ था. भारत का प्रतिष्ठित फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट टूर्नामेंट- 'रणजी ट्रॉफी' इन्‍हीं के नाम पर है. वह इंग्‍लैंड की तरफ से टेस्‍ट क्रिकेट खेलने वाले पहले भारतीय रहे. वो रणजीत सिंह ही थे, जिन्होंने लेग ग्लांस का ईजाद किया था. उन्होंने अपनी इस अनोखी तकनीक के दम पर लेग साइड पर रनों का अंबार लगाया था.

एक ही दिन में दो शतक जड़ने का कारनामा

रणजीत सिंहजी के नाम एक अनोखा के रिकॉर्ड है. दरअसल, उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक ही दिन में दो शतक लगाने का करनामा किया था. अंग्रेजों की टीम में खेलने वाले इस भारतीय दिग्गज ने 22 अगस्त 1896 को इतिहास रचा था.

रणजीत सिंहजी ने ही इंग्लैंड की ओर से टेस्ट (जुलाई 1896) में पदार्पण करते हुए नाबाद 154 रन बनाए थे. उन्होंने उसी फॉर्म को जारी रखते हुए इंग्लैंड के शहर होव में ससेक्स की ओर से खेलते हुए यॉर्कशायर के खिलाफ एक ही दिन में दो शतकीय (100 और नाबाद 125 रन) पारियां खेली थीं.

यॉर्कशायर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 407 रनों का स्कोर खड़ा किया. ससेक्स की टीम तीसरे दिन रणजीत सिंहजी के शतक (100 रन) के बावजूद 191 रनों पर सिमट गई और उसे फॉलोऑन करना पड़ा. फॉलोऑन पारी में एक बार फिर रणजीत सिंहजी ने नाबाद 125 रन बना डाले और एक ही दिन में दो शतक लगाने का करिश्मा कर दिखाया. रणजीत सिंहजी के शतक की बदौलत ससेक्स ने 260/2 रन बना मैच बचा लिया.

https://twitter.com/ICC/status/1303886387494748163?s=20

रणजीत सिंहजी: FACTS -

-रणजीत सिंहजी एक ही मैच में दो शतक लगाने वाले ससेक्स के तीसरे बल्लेबाज बने. लेकिन इससे भी बढ़कर फर्स्ट क्लास क्रिकेट में एक ही दिन दो शतक जमाने वाले एकमात्र क्रिकेटर बने.

-अब तक किसी भी बल्लेबाज ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में ऐसा कारनामा नहीं किया है. हालांकि वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया की ओर से खेलते हुए मैथ्यू एलियट ने 31 दिसंबर 1995 को 104 रन और उसके बाद फॉलोऑन पारी में 135 रन बनाए थे. तब एलियट पहली पारी में एक दिन पहले 98 रन बनाकर नाबाद रहे थे. इस वजह से एलियट के शतकों की तुलना रणजीत सिंहजी से नहीं की जा सकती.

- दूसरी तरफ, स्पेन के बल्लेबाज तारिक अली अवान ने 4 सितंबर 2012 को यूरोपियन चैम्पियनशिप डिविजन-2 टी-20 में एक ही दिन नाबाद 150 और 148 रनों की पारी खेली थी. तब एस्टोनिया के खिलाफ तारिक ने 66 गेंदों में नाबाद 150 और उसी दिन अगले मैच में पुर्तगाल के खिलाफ सेमीफाइनल में 148 रन बनाए थे. हालांकि उनकी टीम फाइनल में स्थान बनाने से चूक गई.

-रणजीत सिंहजी ने भारत के लिए कभी कोई मैच नहीं खेला. उन्होंने इंग्‍लैंड की तरफ से (1896-1902) 15 टेस्‍ट मैचों में उतरे और ये सभी मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ थे. उन्‍होंने 989 टेस्‍ट रन 44.95 की औसत से बनाए, उनका उच्चतम स्‍कोर 175 रहा. 1915 में रणजी शिकार के वक्‍त जख्‍मी हो गए और दाईं आंख की रोशनी खो बैठे. 60 साल की उम्र में उनका निधन (2 अप्रैल, 1933) हुआ.

https://jantaserishta.com/news/us-open-serena-is-full-of-pironkova-know-who-will-fight-in-the-semi-finals/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it