भारत

गोवा चुनाव में तृणमूल सबसे नई पार्टी, 'गठबंधन की मदद के बिना गोवा में कांग्रेस सरकार बनाना संभव नहीं'

Tulsi Rao
18 Feb 2022 5:41 PM GMT
गोवा चुनाव में तृणमूल सबसे नई पार्टी, गठबंधन की मदद के बिना गोवा में कांग्रेस सरकार बनाना संभव नहीं
x
उन्होंने उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “चुनाव आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए.”

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) पर गोवा में हिंदू वोट (Hindu Vote) को विभाजित करने की कोशिश करने का आरोप लगाया और कथित तौर पर कहा कि टीएमसी ने यह दावा खुले तौर पर किया है. उन्होंने उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, "चुनाव आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए."

बीजेपी शासित गोवा की 40 सीटों पर आज चुनाव हो रहे हैं, जहां ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पार्टी अपने पांव पसारने की कोशिश कर रही है. 'द टाइम्स ऑफ इंडिया' के साथ हाल ही में एक साक्षात्कार के दौरान गोवा की पार्टी प्रभारी तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा था कि सुधीन धवलीकर के नेतृत्व वाली महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी या एमजीपी के साथ उनका गठबंधन तटीय राज्य में हिंदू वोटों के एकीकरण को रोक देगा.
'गठबंधन की मदद के बिना गोवा में सरकार संभव नहीं'
महुआ मोइत्रा ने उत्तरी गोवा के संदर्भ में यह बात कही थी, जहां एमपीजी का 13 से 14 सीटों पर भाजपा के साथ सीधा मुकाबला है. तृणमूल सांसद ने जोर देकर कहा था कि ये ऐसी सीटें हैं जो 'कांग्रेस को वोट नहीं देंगी.' उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी पार्टी गठबंधन की मदद के बिना गोवा में सरकार नहीं बनाएगी.
कांग्रेस को मिले बहुमत के बावजूद भाजपा गठबंधन ने बनाई थी सरकार
चुनाव के बाद एमजीपी के साथ जल्दबाजी में की गई साझेदारी ने 2017 के चुनावों के बाद बीजेपी को गोवा में सरकार बनाने में मदद की, जहां कांग्रेस ने सबसे अधिक सीटें जीती थीं. लेकिन गोवा में मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार में मंत्री धवलीकर को मार्च 2019 में प्रमोद सावंत के पदभार संभालने के बाद हटा दिया गया था.
गोवा चुनाव में तृणमूल सबसे नई पार्टी
इस बार चुनाव से पहले एमजीपी ने तृणमूल कांग्रेस से हाथ मिलाया है. यह भाजपा को नागवार गुजरा है और उसने दावा किया कि दोनों दलों की 'संस्कृतियां' 'मिलती नहीं हैं.' गोवा के चतुष्कोणीय मुकाबले में तृणमूल ने सबसे नई पार्टी के रूप में कदम रखा है, जहां अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी भी मैदान में है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta