भारत

TMC ने प्रसार भारती के पूर्व CEO जवाहर सरकार को राज्यसभा के लिए नामित किया

jantaserishta.com
24 July 2021 8:26 AM GMT
TMC ने प्रसार भारती के पूर्व CEO जवाहर सरकार को राज्यसभा के लिए नामित किया
x

प्रसार भारती के पूर्व सीईओ जवाहर सरकार टीएमसी से राज्यसभा के उम्मीदवार बने। दिनेश त्रिवेदी के त्यागपत्र के बाद खाली हुआ था सीट

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की जीत के बाद अब बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की नजर दिल्ली पर है. शुक्रवार को दिल्ली में हुई संसदीय पार्टी की बैठक में ममता बनर्जी को संसदीय पार्टी का चेयरपर्सन (Chariperson) बनाने का निर्णय किया गया है.
राज्यसभा में टीएमसी के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में इसकी घोषणा की. डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस संसदीय दल ने सर्वसम्मति से तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी को तृणमूल कांग्रेस संसदीय दल का अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किया है. बता दें कि ममता बनर्जी सात बार सांसद रह चुकी हैं और लगातार तीन बार से बंगाल की सीएम हैं.
डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि पार्टी सुप्रीमो के अनुभव को देखते हुए पार्टी ने रणनीतिक रूप से और उनके अनुभव को इस्तेमाल करने के लिए उन्हें संसदीय पार्टी का नेता बनाने का निर्णय किया है. इसके साथ ही डेरेक ने आज राज्यसभा से पार्टी के सांसद डॉ शांतनु सेन को निलंबित किए जाने को लेकर केंद्र सरकार और बीजेपी पर हमला बोला. शांतनु सेन ने कहा कि इसके पहले भी किसानों के आंदोलन के मुद्दे पर टीएमसी के दो सांसदों, कांग्रेस के तीन सांसदों और वामपंथी पार्टियों के दो सांसदों को सदन से निलंबित किया जा चुका है, लेकिन इस तरह से बीजेपी उन लोगों का मुंह नहीं बंद करवा पाएगी. वे लोग बीजेपी की जनता के हित के खिलाफ लिए गए फैसले को लेकर आवाज उठाते रहेंगे.
ममता बनर्जी का 26 जुलाई से दिल्ली दौरा शुरू हो रहा है. विधानसभा चुनाव के बाद ममता बनर्जी का यह पहला दिल्ली दौरा होगा. विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी ने बीजेपी को कड़ी टक्कर देते हुए तीसरी बार सीएम बनने में सफल रही हैं. उनका दौरा राजनीतिक रूप से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. सीएम 26 जुलाई को दोपहर तीन बजे कोलकाता से दिल्ली के लिए रवाना होंगी. वह 27 से 29 जुलाई तक दिल्ली में रहेंगी और 30 जुलाई को कोलकाता लौट आएंगी. इसी दौरान उनकी नेताओं के साथ बैठक होंगी. वह संसद भी जाएंगी. वहां भी नेताओं से मुलाकात करेंगी.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta