भारत

इस एप के जरिये सोशल मीडिया पर लाइक का झांसा देकर करोड़ों की ठगी, सात लोग गिरफ्तार

Kunti Dhruw
24 Dec 2020 6:22 PM GMT
इस एप के जरिये सोशल मीडिया पर लाइक का झांसा देकर करोड़ों की ठगी, सात लोग गिरफ्तार
x
दिल्ली के साथ पूरे देश भर में सोशल मीडिया पर लाइक से घर बैठे लाखों कमाने का झांसा देकर करोड़ों रुपये की ठगी

जनता से रिश्ता वेबडेस्क : दिल्ली के साथ पूरे देश भर में सोशल मीडिया पर लाइक से घर बैठे लाखों कमाने का झांसा देकर करोड़ों रुपये की ठगी का मामला सामने आया है. 'लव लाइक' नाम के मोबाइल एप्लीकेशन की मदद से ठगों ने सोशल मीडिया यूजर्स को घर बैठे हजारों लाखों कमाने का झांसा दिया. उनको सिर्फ इतना काम करना था कि फेसबुक, इंस्टाग्राम चलाते हुए कुछ पोस्ट को लाइक करना था, जिसके बाद उसे शेयर करना था. हालांकि पैसा कमाने से पहले उनको कुछ रकम (10 से 50 हज़ार के बीच) जमा करानी होती थी.

सिर्फ इतना काम करने पर उनके अकाउंट में पैसे क्रेडिट हो जाते थे. हालांकि यह पैसे उनके बैंक अकाउंट में नहीं, बल्कि मोबाइल एप्लीकेशन वाले एकाउंट में क्रेडिट होते थे. मगर यूजर यह समझते थे कि जरूरत पड़ने पर वो रकम निकाली जा सकती है. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. जब यूजर्स ने पैसे निकालना शुरू किया तो पता चला कि वो रकम सिर्फ उनको दिखाई देने वाला पैसा है, जिसे वे निकाल नहीं सकते हैं.

इसके बारे में जब तक वे आगे कुछ करते, तब तक ठग मोबाइल एप बंद करके भाग चुके थे. पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने करीब डेढ़ करोड़ रुपये की ठगी की थी. जिसकी शिकायत एक टि्वटर पोस्ट के जरिए पुलिस को मिली. पुलिस ने बताया कि साउथ-वेस्ट जिले की पुलिस को ट्वीट करते हुए एक सोशल मीडिया यूजर ने शिकायत दी थी, जिसमें उसने लाइक एप के बारे में बताया था.
पुलिस को पता चलने के बाद साइबर सेल ने एक विशेष टीम बनाई. जिसने पूरे मामले की जांच शुरू की. इसके बाद आरोपियों को साउथ-वेस्ट जिले से ही गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने सात आरोपी पकड़े हैं, जिसमें से कुछ आरोपियों के इंपोर्ट-एक्सपोर्ट बिजनेस हैं. उन्होंने अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए 50 लाख रुपये के छुहारे खरीद लिए थे. आरोपियों ने छुहारा कोल्ड स्टोर में सुरक्षित रखा था, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है. आरोपियों ने पुलिस को पूछताछ में बताया है कि इस पूरी साज़िश का सरगना दुबई में रहता है, जिसके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है.

क्या है लव लाइक एप्लीकेशन
पुलिस के मुताबिक, फेसबुक के कई ग्रुप्स की पोस्ट्स पर लाखों लाइक देखने को मिलते हैं. वो ज्यादातर ऐसे ऐप से ही किया जाता था. इसमें जुड़ने वाले को एनरोलमेंट फीस देने के बाद काम मिल जाता था और वह काम कर करके पैसे कमाता रहता था. आरोपियों ने कुछ लोगों को पैसे लौटाए भी और उनको कहा था कि वह सोशल मीडिया पर इस बात का प्रचार करें कि वह घर बैठे पैसे कमा रहे हैं. इससे आरोपियों को शिकार मिलने में आसानी होने लगी.
पुलिस ने बताया कि इस एप के जरिये लोगों से ठगी करने वाले आकाओं के बारे में जानकारी मिली है. वो लोग हैं, जो दुबई में हैं. इनमें से एक मास्टरमाइंड सन्नी चाइना है, जो गुजरात का रहने वाला है. चूंकि उसकी शादी चाइना की लड़की से हुई है, इसलिए उसे सन्नी चाइना के नाम से बुलाते हैं. पुलिस उन दोनों के बारे में और जानकारी जुटा रही है.




Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta