भारत

कृषि विश्वविद्यालय के छात्र की मौत के बाद मचा बवाल, आक्रोशितों ने की तोड़फोड़ और आगजनी

jantaserishta.com
22 May 2022 8:44 AM GMT
कृषि विश्वविद्यालय के छात्र की मौत के बाद मचा बवाल, आक्रोशितों ने की तोड़फोड़ और आगजनी
x

समस्तीपुर: बिहार के समस्तीपुर में डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के छात्र की सड़क हादसे में मौत के बाद इलाज में लापरवाही का आरोप लगा कर आक्रोशित छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर और अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की. इतना ही नहीं गुस्साए छात्रों ने कई गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया.

हंगामा कर रहे आक्रोशित छात्रों को हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करनी पड़ी जिसमें दर्जन भर से अधिक छात्र के घायल होने की खबर है. बता दें कि पूसा विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले अखिल साहू अपने दोस्त के साथ मोटरसाइकिल से कुछ सामान खरीदने के लिए जा रहा थे.
इसी बीच एक अनियंत्रित पिकअप ने मोटरसाइकिल में ठोकर मार दी जिससे वो बाइक सहित एक पोल से टकरा गए. इस हादसे में छात्र को सिर में गंभीर चोट लग गई. घायल अवस्था में छात्र को इलाज के लिए विश्वविद्यालय के अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां से डाक्टरों ने उसे पूसा अनुमंडलीय अस्पताल भेज दिया.
डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे रेफर कर दिया, छात्रों ने आरोप लगाया कि बिना ऑक्सीजन के ही हमें प्राइवेट गाड़ी से इलाज के लिए छात्र को मुजफ्फरपुर ले जाना पड़ा और रास्ते में ही जेल चौक के पास उसकी मौत हो गई. इसके बाद अपने साथी के मौत से गुस्साए छात्र काफी उग्र हो गए.
पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजना चाह रही थी लेकिन छात्र मृतक के परिजनों के आने और वीसी को बुलाने की मांग पर अड़े थे. इसके बाद आक्रोशित छात्रों ने विश्वविद्यालय के अस्पताल में तोड़फोड़ शुरू कर दी और वहां खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया.
आक्रोशित छात्रों ने एकेडमिक बिल्डिंग में भी जमकर तोड़फोड़ की है. बाद में काफी संख्या में पहुंची पुलिस ने छात्रों की भीड़ को हटाने के लिए लाठीचार्ज शुरू कर दिया जिसमें दर्जन भर से अधिक छात्र के घायल होने की सूचना है. कुछ घायल छात्रों का इलाज सदर अस्पताल में भी चल रहा है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए समस्तीपुर सदर अस्पताल भेज दिया है.
मृतक छात्र की पहचान अखिल साहू के रूप में हुई है जो डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा में बीटेक (बायोटेक) की पढ़ाई कर रहा था. वो राजस्थान के अजमेर का रहने वाला था.
इधर विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों के रुख को देखते हुए अनिश्चितकाल के लिए विश्वविद्यालय को बंद कर दिया है. इसके साथ ही हॉस्टल को खाली करने का निर्देश भी जारी कर दिया गया है.
वहीं दूसरी तरफ छात्रों का आरोप है कि उनसे जबरन हॉस्टल खाली कराया जा रहा है. विश्वविद्यालय के हालात को देखते हुए काफी संख्या में पुलिस बल को वहां तैनात किया गया है. प्रशासन और पुलिस पूरे हालात पर अपनी नजर बनाए हुए है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta