भारत

महबूबा मुफ्ती का बयान, कश्मीर में खून-खराबे का कोई अंत होता नहीं दिख रहा

jantaserishta.com
16 April 2022 3:22 AM GMT
महबूबा मुफ्ती का बयान, कश्मीर में खून-खराबे का कोई अंत होता नहीं दिख रहा
x

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले में शुक्रवार को आतंकवादियों ने एक सरपंच की गोली मारकर हत्या कर दी थी. यह शख्स निर्दलीय निर्वाचित हुआ था. अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने पट्टन इलाके के गोसबाग में मंजूर अहमद बांगरू की हत्या कर दी. बांगरू को अस्पताल ले जाया गया था लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था.

अहमद बांगरू की हत्या को लेकर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इसे लेकर दुख जताते हुए केंद्र सरकार पर हमला बोला. उन्होंने ट्वीट में लिखा, टारगेट किलिंग को लेकर बेहद दुखी हूं. ऐसा लग रहा है कि कश्मीर में खून-खराबे का अंत होता नहीं दिख रहा है. फिर भी भारत सरकार जम्मू-कश्मीर के प्रति अपना नजरिया बदलने को तैयार नहीं है.
गौरतलब है कि तीन दिनों में बांगरू दूसरे नागरिक हैं, जिनकी आतंकियों ने हत्या की है. इससे पहले आतंकवादियों ने बुधवार को कुलगाम जिले में स्थानीय सतीश सिंह की हत्या कर दी थी. अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों के आम नागरिकों पर हमले पिछले दो सप्ताह में बढ़े हैं. पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि सरपंच की हत्या के मामले में कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.
उन्होंने बताया, मामले की जांच चल रही है और अधिकारी इस आतंकी अपराध की परिस्थितियों को स्थापित करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं. पूरे इलाके को घेर लिया गया है और तलाशी अभियान जारी है. इस बीच, उप राज्यपाल मनोज सिन्हा और राजनीतिक पार्टियों ने भी इस हत्या की निंदा की है. सिन्हा ने कहा, मैं सरपंच मंजूर अहमद बांगरू पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं, इस घृणित कृत्य करने के दोषियों को दंडित किया जाएगा. मेरी संवेदनाएं शोक के इस समय में पीड़ित परिवार के साथ है.
नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, एक और टारगेट किलिंग, एक और परिवार इस शाम शोक मना रहा है. यह खत्म नहीं होने वाले हिंसा का चक्र दिल को तोड़ने वाला है. मेरी संवेदनाएं मंजूर बांगरू के परिवार के साथ है. उन्हें जन्नत नसीब हो.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta