Top
भारत

गोली मारकर महिला की हत्या, हालात बिगड़े तो पुलिस ने किया लाठीचार्ज, आखिर क्या है पूरा विवाद?

Admin1
10 Jun 2021 6:48 AM GMT
गोली मारकर महिला की हत्या, हालात बिगड़े तो पुलिस ने किया लाठीचार्ज, आखिर क्या है पूरा विवाद?
x
ग्रामीणों ने पुलिस पर लगाया आरोप...

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में बुधवार रात को बाइक पर सवार एक दंपति पर कुछ हमलावरों द्वारा फायरिंग की गई. इस घटना में पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई. इस घटना के बाद गांव वालों ने हंगामा किया, तो पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को हटाने के लिए लाठीचार्ज किया. पुलिस और गांव वालों में हुए इस टकराव की तस्वीरें, वीडियो सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रही हैं.

आखिर क्या है पूरा विवाद?
दरअसल, बाराबंकी के असन्दरा थाने क्षेत्र में बीती रात बाइक से घर आ रहे दंपति के साथ हुए गोली कांड में एक महिला की मौत हो गई. आरोप है कि मामले में पुलिस द्वारा हत्यारों को गिरफ्तार न करके पूछताछ के लिए मृतक महिला के पति दामोदर को ही थाने में बंद कर दिया था. बुधवार देर शाम पोस्टमार्टम होने के बाद शव को लेकर ग्रामीणों ने गांव के बाहर सिद्धौर-कैसरगंज मार्ग पर जाम लगा दिया. इन प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि महिला के पति दामोदर को पुलिस छोड़े और हत्यारों को गिरफ्तार करे.
प्रदर्शन की सूचना पर पुलिस दामोदर को लेकर पहुंची और जाम हटाने को कहा. इसी बीच दामोदर ने अपने ऊपर हुए पुलिसिया ज़ुल्म की दास्तान गांव वालों को सुना दी. पुलिस ने मामला नाजुक देखते हुए दामोदर को जैसे ही गाड़ी पर बैठाना चाहा ग्रामीण नाराज़ हो गए और विरोध प्रदर्शन करने लगे.
हालात बिगड़े तो पुलिस ने किया लाठीचार्ज
देखते ही देखते पुलिस और ग्रामीणों से कहासुनी होने लगी. इसके बाद पथराव शुरू हो गया, पुलिस ने लाठीचार्ज कर ग्रामीणों को खदेड़ दिया. कई महिलाओं को भी डंडों से बुरी तरह पीटा गया. घटना का वीडियो भी सामने आया है. अब पुलिस ने करीब आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है, जिनपर पुलिस टीम पर हमला करने का आरोप है.
ग्रामीणों ने पुलिस पर लगाया आरोप
वहीं ग्रामीण एक ही जिद पर अड़े हैं कि पहले महिला के पति को छोड़ा जाए और आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए. दूसरी ओर पुलिस ने अपने आप को क्लीन चिट दी है. अपर पुलिस अधीक्षक ने एक बयान जारी कर पीड़ितों पर ही आरोप मढ़ दिया है. पुलिस के मुताबिक, महिला के मायके और सुसराल वालों में अंतिम संस्कार को लेकर कहासुनी होने लगी थी. बीच-बचाव करने पुलिस गई थी, लेकिन पुलिस पर भी पथराव होने लगा.
तमाम विवाद के बीच महिला का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव थाना सफदरगंज में करवाया गया है. इस दौरान भारी पुलिसबल तैनात रहा.
पूरी घटना को लेकर परिवार सकते में है और पुलिस से अपील कर रहा है. पीड़िता की मां के मुताबिक, पुलिस आरोपियों के घर नहीं गई, लेकिन हमारे बच्चे को बंद कर दिया. वहीं, जिस व्यक्ति को बंद किया है उसकी बहन का कहना है कि जिन लोगों ने महिला को मारा है, उनपर एक्शन होना चाहिए और मेरे भाई को छोड़ा जाना चाहिए.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it