भारत

महिला खिलाड़ी ने खेल मंत्री पर लगाया गंभीर आरोप, बोली - ये सुनकर मैं बहुत आहत हूँ....

Janta Se Rishta Admin
3 Jan 2022 12:56 AM GMT
महिला खिलाड़ी ने खेल मंत्री पर लगाया गंभीर आरोप, बोली - ये सुनकर मैं बहुत आहत हूँ....
x

पंजाब। भारत की दिव्यांग शतरंज खिलाड़ी मलिका हांडा ने रविवार को पंजाब सरकार के खेल मंत्री (Punjab Government) पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि पंजाब के खेल मंत्री परगट सिंह (Pargat Singh) ने उन्हें बताया कि राज्य सरकार उन्हें नौकरी और नकद इनाम नहीं दे सकती, क्योंकि सरकार के पास बधिर खेलों के लिए ऐसी कोई नीति नहीं है. मलिका ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट लिखा और एक वीडियो भी अपलोड किया.

मलिका का आरोप है कि पंजाब सरकार (Punjab Government) ने पहले उन्हें नौकरी और कैश रिवॉर्ड देने का वादा किया था, लेकिन अब वो मुकर रही है. विश्व बधिर शतरंज चैंपियनशिप (World Deaf Chess Championships) में एक स्वर्ण और दो रजत पदक जीतने वाली हांडा ने 31 दिसंबर को खेल मंत्री से मुलाकात की थी. मलिका हांडा का कहना है कि उन्होंने (खेल मंत्री) बताया कि वह नौकरी और नकद पुरस्कार के लिए अपात्र हैं, क्योंकि उनके पास बधिर खेलों के लिए कोई नीति नहीं हैं. मलिका हांडा ने कहा कि मैं ये सुनकर बहुत आहत हूं. 31 दिसंबर को मैं पंजाब के खेल मंत्री से मिली. उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार उन्हें नौकरी नहीं दे सकती और न ही नकद पुरस्कार, क्योंकि उनके पास बधिर खेलों के लिए नीति नहीं है.

मलिका ने आगे कहा कि पूर्व खेल मंत्री ने नकद पुरष्कार की घोषणा की थी. मेरे पास पुरस्कार दिए जाने का निमंत्रण पत्र भी है, जिसमें मुझे आमंत्रित किया गया था, लेकिन कोविड के कारण इसे रद्द कर दिया गया था. हांडा ने रविवार को बताया कि यह बात जब मैंने खेल मंत्री परगट सिंह को बताई तो उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि वह पूर्व मंत्री थे. मैंने घोषणा नहीं की और न ही सरकार ने. हांडा के मुताबिक उनके पांच साल बर्बाद हो गए. मैं केवल यह पूछ रही हूं कि इसकी घोषणा क्यों की गई. कांग्रेस सरकार पर मेरे 5 साल बर्बाद हो गए. वे मुझे बेवकूफ बना रहे हैं. बधिर व्यक्ति के खेलों की उन्हें परवाह नहीं.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta