भारत

कम हो रही कोरोना महामारी की स्थिति, लेकिन कुछ राज्‍यों में डरा रही संक्रमण की रफ्तार, केरल में एक दिन में 52,199 नए केस

Chandravati Verma
2 Feb 2022 6:52 PM GMT
कम हो रही कोरोना महामारी की स्थिति, लेकिन कुछ राज्‍यों में डरा रही संक्रमण की रफ्तार, केरल में एक दिन में 52,199 नए केस
x
देश में कोविड महामारी की स्थिति में लगातार सुधार नजर आ रहा है। तीसरी लहर में तेजी से वृद्धि के बाद पहली बार बुधवार को दैनिक संक्रमण दर 10 प्रतिशत से नीचे आई है।

नई दिल्ली: देश में कोविड महामारी की स्थिति में लगातार सुधार नजर आ रहा है। तीसरी लहर में तेजी से वृद्धि के बाद पहली बार बुधवार को दैनिक संक्रमण दर 10 प्रतिशत से नीचे आई है। एक समय यह 20 प्रतिशत तक पहुंच गई थी। लगातार दूसरे दिन दो लाख से कम नए मामले सामने आए हैं और सक्रिय मामलों में भी एक लाख से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है लेकिन केरल में कोरोना की रफ्तार डराने लगी है।

महामारी का हाटस्‍पाट बना केरल
कोरोना की तीसरी लहर में केरल संक्रमण का केंद्र बना हुआ है। वहां मामले कम नहीं हो रहे हैं। बीते कुछ दिनों से केरल में लगातार 50 हजार केस सामने आ रहे हैं। केरल में बुधवार को कोरोना के 52,199 नए मामले सामने आए जबकि 29 लोगों की मौत हो गई। हालांकि पिछले बैकलाग को मिलकार राज्‍य सरकार ने एक दिन में 500 संक्रम‍ितों की मौत होने की जानकारी दी है। एक दिन पहले मंगलवार को 51,887 नए मामले सामने आए थे।
केरल में थिएटर खोलने पर रोक
वहीं केरल सरकार ने हाईकोर्ट को बताया कि राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 'सी' श्रेणी के क्षेत्रों में थिएटर खोलने पर रोक लगा दी गई है। हालांकि 'फिल्म एक्जिबिटर्स यूनाइटेड आर्गेनाइजेशन ऑफ केरल' राज्‍य सरकार के फैसले का विरोध किया। संगठन ने विभिन्न अंतरराष्ट्रीय अध्ययनों का उल्लेख करते हुए दावा किया कि मॉल और रेस्तरां की तुलना में सिनेमा हाल कहीं अधिक सुरक्षित हैं। सनद रहे केरल सरकार पिछले रविवार को राज्‍य में वीकेंड लाकडाउन भी लगाया था।
कर्नाटक में बढ़े केस
कर्नाटक में भी कोरोना की आंख-मिचौनी जारी है। कर्नाटक में भी केस बढ़ गए हैं। राज्‍य में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 20,505 नए मामले सामने आए जबकि 81 मरीजों की मौत हो गई। एक दिन पहले मंगलवार को कर्नाटक में 14,366 नए मामले सामने आए जबकि 58 मरीजों की मौत हो गई।
तमिलनाडु में 37 मरीजों की मौत
तमिलनाडु में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 14,013 नए मामले सामने आए जबकि 37 मरीजों की मौत हो गई। एक दिन पहले मंगलवार को तमिलनाडु में कोरोना के 16,096 नए मामले सामने आए थे जबकि 35 मरीजों की मौत हो गई थी।
राजस्‍थान में 8,428 नये मामले
राजस्थान में बुधवार को कोरोना के 8,428 नये मामले सामने आये जबकि संक्रमण से 22 मरीजों मौत हो गई। फ‍िलहाल राज्य में 58,603 एक्टिव केस हैं। राजस्‍थान में महामारी से अब तक कुल 9,310 लोगों की मौत हुई है।
बंगाल और असम में ऐसे हैं हालात
पश्चिम बंगाल में बुधवार को कोरोना 2,723 नए मामले सामने आए जबकि 35 मरीजों की संक्रमण से मौत हो गई। राज्‍य में 21,880 सक्रिय मामले हैं। वहीं असम में बुधवार को कोरोना के 1,028 नए मामले सामने आए जबकि 18 मरीजों की मौत हो गई। राज्‍य में 15,178 सक्रिय मामले हैं।
देश में 1,61,386 नए मामले
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से बुधवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक दैनिक संक्रमण दर 9.26 प्रतिशत पर आ गई है, वहीं साप्ताहिक संक्रमण दर 14.15 प्रतिशत रिकार्ड की गई है। बीते 24 घंटे में 1,61,386 नए मामले मिले हैं। एक दिन पहले 1.67 लाख केस पाए गए थे।
देश में एक दिन में 1,733 मौतें
इस दौरान 1,733 मौतें दर्ज की गई हैं, लेकिन इनमें केरल में पहले हुईं 1,063 मौतें भी शामिल हैं, जिसे राज्य सरकार ने दैनिक आंकड़ों के साथ मिलाकर जारी किया है। वहीं देश में सक्रिय मामलों में 1,21,456 की कमी दर्ज की गई है। वर्तमान में सक्रिय मामले घटकर 16,21,603 रह गए हैं जो कुल मामलों का 4.20 प्रतिशत है।
रिकवरी रेट में सुधार
मरीजों के उबरने की दर लगातार सुधर रही है और अभी यह 94.60 प्रतिशत है, जबकि मृत्युदर 1.20 प्रतिशत पर बनी हुई है। अब तक 71.84 करोड़ लोगों का पूर्ण टीकाकरण स्वास्थ्य मंत्रालय के कोविन पोर्टल के शाम छह बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक 71.84 करोड़ लोगों का पूर्ण टीकाकरण हुआ है, यानी उन्हें कोरोना रोधी वैक्सीन की दोनों डोज दे दी गई है।
टीकाकरण का आंकड़ा 167.78 करोड़ के पार
केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक कुल 167.78 करोड़ डोज लगाई हैं। इसमें 94.64 करोड़ पहली और 1.28 करोड़ सतर्कता डोज भी शामिल हैं। मंत्रालय के मुताबिक केंद्र की तरफ से राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 164.89 करोड़ से ज्यादा डोज मुहैया कराई गई हैं। इनके पास अभी 11.48 करोड़ डोज बची हैं।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta