भारत

मोबाइल कंपनी को लगाया था 1 करोड़ 76 लाख का चूना, दिल्ली पुलिस ने 10 साल बाद ऐसे किया गिरफ्तार

Kunti Dhruw
8 Sep 2021 6:28 PM GMT
मोबाइल कंपनी को लगाया था 1 करोड़ 76 लाख का चूना, दिल्ली पुलिस ने 10 साल बाद ऐसे किया गिरफ्तार
x
दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने एक बड़ी मोबाइल कंपनी को पौने दो करोड़ से ज्यादा का चूना लगाने वाले एक शातिर ठग को 10 साल बाद गिरफ्तार कर लिया।

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने एक बड़ी मोबाइल कंपनी को पौने दो करोड़ से ज्यादा का चूना लगाने वाले एक शातिर ठग को 10 साल बाद गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक ये आरोपी पिछले 10 सालों से पुलिस को चकमा देने में कामयाब रहा. पुलिस के मुताबिक आरोपी कंपनी के सिम कार्ड फेक आईडी पर निकलवाता था और फिर उनसे इंटरनेशनल कॉल किया करता था. इस तरीके से आरोपी ने कुछ ही समय में मोबाइल कंपनी को 1 करोड़ 76 लाख रुपए का चूना लगा दिया.

पकड़े गए आरोपी का नाम चित्रेश मोहन शर्मा है. 10 साल पुराने इस मामले में कोर्ट ने चित्रेश मोहन शर्मा को भगोड़ा घोषित कर दिया था. पुलिस के मुताबिक जनवरी 2010 में एक टेलीकॉम कंपनी के एक कर्मचारी ने शिकायत दर्ज कराई थी कि एक शख्स जिसने खुद को एक्सपोर्ट इंपोर्ट कंपनी का मालिक बताया और जाली आईडी पर 10 इंटरनेशनल रोमिंग सिम कार्ड इश्यू कराए, यह सभी सिम दीपक रावत नाम के एक शख्स के नाम पर जारी किए गए थे.
जब टेलीकॉम कंपनी को यह पता लगा कि उनके सिम से बहुत ज्यादा अंतरराष्ट्रीय कॉल किए जा रहे हैं तो उन्होंने जांच की तो पता लगा कि दीपक रावत नाम का कोई शख्स है ही नहीं और उसने जो आईडी और डॉक्यूमेंट सिम कार्ड के लिए दिए थे वो सब जाली हैं. इसके बाद उन्होंने पुलिस को शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने मामले की जांच शुरू की.
जांच में पुलिस को पता लगा कि दीपक रावत नाम का ना तो कोई शख्स है और ना ही ऐसी कोई कंपनी है, जिसके नाम पर दीपक रावत ने 10 सिम जारी कराए थे. पुलिस की जांच में यह बात पता चल गया कि इस सारे गोरखधंधे के पीछे चित्रेश नाम का शख्स है, लेकिन जब पुलिस ने चित्रेश की तलाश शुरू की तो उसका कोई सुराग नहीं मिल सका.
जांच के 7 साल बाद 2017 में कोर्ट ने चित्रेश को भगोड़ा घोषित कर दिया. पुलिस लगातार चित्रेश की तलाश में जुटी रही. इसी दौरान दिल्ली पुलिस को पता लगा कि चित्रेश दिल्ली के जैतपुर इलाके में छिपकर रह रहा है. इसी सूचना के आधार पर दिल्ली पुलिस ने चित्रेश को जैतपुर इलाके से गिरफ्तार कर लिया. अब उससे पूछताछ की जा रही है.


Next Story