भारत

शराबी पति की हैवानियत, पत्नी और तीन मासूम बच्चों का गला रेतकर उतारा मौत के घाट, फिर खुद भी खा लिया जहर

jantaserishta.com
27 Aug 2021 1:00 AM GMT
शराबी पति की हैवानियत, पत्नी और तीन मासूम बच्चों का गला रेतकर उतारा मौत के घाट, फिर खुद भी खा लिया जहर
x
पढ़े पूरी खबर

कुशीनगर. कुशीनगर में एक झकझोर देने वाली घटना सामने आई है. कसया थाने के कुड़वा दिलीपनगर के गोपाल टोले में शराबी पति ने अपनी पत्नी और तीन मासूम बच्चों का गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया और फिर खुद भी जहर खा लिया. घटना में पत्नी और तीन बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पति की हालत गंभीर है जिसे इलाज के लिए गोरखपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. घटना का कारण पारिवारिक कलह बताया जा रहा है. पत्नी और अपने तीन बच्चों को मौत की नींद सुलाने वाला जितेंद्र का कुछ दिन पूर्व अपनी पत्नी लीलावती से विवाद हुआ था जिसके करना लीलावती बच्चों को लेकर मायके चली गई थी. कुछ दिन पूर्व जितेंद्र अपनी पत्नी और बच्चों को मायके से लेकर घर आया था. घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फ़ैल गई.

घटना के बाद एसपी सचिंद्र पटेल ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया. पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. कसया थाने के कड़वा दिलीपनगर के गोपाल टोला निवासी और राजगीर मिस्त्री का काम करने वाले जितेंद्र के शराब पीने की लत से पूरा परिवार परेशान था. आर्थिक तंगी के बीच जितेंद्र का शराब पीना पूरे परिवार पर भारी पड़ रहा था. जितेंद्र की पत्नी लीलावती शराब पीने को लेकर अक्सर विवाद करती थी. कुछ दिन पूर्व जितेंद्र और लीलावती में एक फिर विवाद हुआ जिससे नाराज होकर लीलावती अपने मायके चली गई. रक्षाबंधन के एक दिन पहले जितेंद्र भी अपनी ससुराल पहुंचा और शराब ना पीने का वायदा करके अपनी पत्नी लीलावती को लेकर घर आ गया. कुछ दिन तो ठीक-ठाक रहा लेकिन फिर वाह शराब पीने लगा जिसको लेकर लीलावती और उसके बीच झगड़ा हुआ.
बीती रात जितेंद्र मछली लेकर आया था अपनी पत्नी और तीन बच्चों को खाना खिलाया और फिर सब सोने चले गए. उसके बाद दोपहर तक उसके घर में कोई हलचल नहीं हुई तो पड़ोसियों को शक हुआ. पड़ोसियों ने जितेंद्र और उसके बच्चों का नाम लेकर बुलाया लेकिन कोई हरकत नहीं हुई जिसके बाद पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़ दिया. अंदर जाने पर तख्ते पर तीन बच्चे 8 वर्षीय आकाश, 6 वर्षीय विकास और 4 वर्षीय निखिल पड़ा हुआ था जिनका बड़ी बेदर्दी से गला रेता गया था. थोड़ी दूर पर लीलावती भी मृत पड़ी थी. जितेंद्र भी बेसुध पड़ा था जिसे स्थानीय लोगों ने कसया सीएचसी भर्ती कराया जहां से उसके गोरखपुर मेडिकल रेफर कर दिया गया. महिला सहित तीन मासूम बच्चों की हत्या से पूरा गांव दहल गया. लोगों ने तत्काल पुलिस को सूचित किया जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने चारों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिय भेज दिया. बाद में पुलिस अधीक्षक सचिंद्र पटेल ने घटनास्थल का निरीक्षण किया. एसपी ने बताया की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और नशीला पदार्थ खाने वाले जितेंद्र को हायर मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है बाकी बिंदुओं पर जांच चल रही है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta