भारत

सिख और मुस्लिम पक्ष आमने-सामने, जानिए वजह

jantaserishta.com
18 May 2022 10:29 AM GMT
सिख और मुस्लिम पक्ष आमने-सामने, जानिए वजह
x
सांप्रदायिक माहौल गरमा गया है.

चंडीगढ़: देशभर में तनाव की घटनाओं के बीच पंजाब में भी सांप्रदायिक माहौल गरमा गया है. यहां पटियाला के राजपुरा में सिख समाज की गुरु की सराय को कथित तौर पर मस्जिद में बदलने को लेकर विवाद शुरू हो गया है. सिख और मुस्लिम पक्ष आमने-सामने आ गए हैं. मामला थाने तक पहुंच गया है. फिलहाल, पुलिस ने दोनों पक्षों को 2 दिन के अंदर दस्तावेज पेश करने का समय दिया है. हिंदू और सिख समाज के लोगों ने दावा किया है कि मुस्लिम पक्ष सिख सराय को मस्जिद बनाने की कोशिश कर रहे थे.

सिख और हिंदू समाज के सदस्यों का कहना था कि मुस्लिम समाज सिख सराय पर जबरन कब्जा कर रहे थे और मस्जिद में बदल रहे थे. हालांकि, मुसलमानों ने आरोपों से इनकार किया. मुस्लिम समाज ने दावा किया है कि मस्जिद आजादी से पहले समय की है. हाल ही में इसका पुनर्निर्माण किया गया है. जांच से पता चला है कि वक्फ बोर्ड ने 2016 में इस ढांचे पर दावा पेश किया था.
स्थानीय लोगों का कहना है कि 2017 तक यहां दो सिख परिवार रह रहे थे. उन्हें कथित तौर पर जगह खाली करने के लिए मजबूर किया गया और धमकी भी दी गई थी. स्थानीय निवासियों ने इंडिया टुडे को बताया कि सराय में रहने वालों ने दो साल पहले इसे एक मस्जिद का आकार देना शुरू किया था. पहले एक गुंबद बनाया गया और बाद में हरे रंग से रंगा गया तो लोग चौंक गए. आरोप है कि सिख धर्म के प्रतीकों को भी ढांचे से हटा दिया गया है.
स्थानीय लोगों ने पुलिस को यह भी बताया है कि हरियाणा, उत्तर प्रदेश और कई अन्य राज्यों के लोग इस इलाके में उपद्रव कर रहे थे. इस बीच, प्रशासन ने ढांचे के पास पुलिस बल तैनात कर दिया है और दोनों पक्षों से जरूरी दस्तावेज पेश करने के लिए कहा है. राजपुरा के एसडीएम हिमांशु गुप्ता ने बताया कि मैंने दोनों पक्षों की बात सुनी है. सिख और हिंदू पक्षों ने दावा किया है कि ये स्ट्रक्चर मूल रूप से सराय थी, लेकिन मुस्लिम समुदाय का दावा है कि यह एक मस्जिद थी. दस्तावेज जमा करने के लिए दो दिन का समय दिया है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta