भारत

शोपियां में जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर सज्जाद अफगानी ढेर, सुरक्षा बलों को एनकाउंटर के बाद मिली कामयाबी

jantaserishta.com
15 March 2021 7:16 AM GMT
शोपियां में जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर सज्जाद अफगानी ढेर, सुरक्षा बलों को एनकाउंटर के बाद मिली कामयाबी
x

जम्मू-कश्मीरः आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर सज्जाद अफगानी शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। सुरक्षाबलों ने बीते 3 दिनों में दो आतंकियों को मार गिराया।

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ चल रही है। मुठभेड़ का आज तीसरा दिन है, जिसमें कई घंटे तक हुई फायरिंग में सुरक्षाबलों ने दूसरे आतंकी को भी मार गिराया है। इससे पहले रविवार को जैश आतंकी नारपोरा निवासी जहांगीर अहमद वानी को मार गिराया गया था। जिसके पास से एम-4 कार्बाइन, मैगजीन, 9600 रुपये नकद व अन्य सामग्री बरामद हुई थी। ऑपरेशन के दौरान एक पुलिस कर्मी और एक नागरिक घायल हुआ था। साथ ही तीन घरों को भी नुकसान पहुंचा था।

बता दें कि शनिवार की शाम सुरक्षाबलों को रावलपोरा गांव में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद सेना, सीआरपीएफ और पुलिस ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी। रात लगभग 8 बजे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी और घेरा तोड़कर भाग निकलने की कोशिश की। इसी दौरान आतंकियों ने छह नागरिकों को बंधक बना लिया था।
हालांकि सभी नागरिकों को रात को ही सुरक्षित निकाल लिया था। रात में अंधेरा होने के बाद सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन स्थगित कर दिया था, लेकिन गांव से बाहर निकलने के सभी रास्ते बंद कर दिए गए थे। रविवार सुबह होते ही सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन शुरू करते हुए एक आतंकी को मार गिराया। पुलिस रिकार्ड के अनुसार, मारा गया आतंकी जहांगीर एक सितंबर 2020 के बाद से सक्रिय था और कई आतंकी वारदातों में शामिल था। इसमें सुरक्षाबलों पर हमले और नागरिकों के उत्पीड़न के मामले भी शामिल थे।
ऑपरेशन बाधित करने पहुंची भीड़
मुठभेड़ के दौरान उपद्रवियों के एक समूह ने बाधा पहुंचाने की कोशिश की। परंतु सतर्क सुरक्षाबलों ने इन शरारती तत्वों को बल प्रयोग कर खदेड़ दिया। कुछ लोगों को चोट भी आई है।
शोपियां में इंटरनेट बंद
रावलपोरा में चल रहे ऑपरेशन के दौरान अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। सुरक्षाबलों ने लोगों से मुठभेड़ स्थल के आसपास न जाने की अपील की है। बता दें कि इस साल 14 मार्च तक 12 आतंकियों का खात्मा किया जा चुका है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta