भारत

गुरुग्राम में खुले में नमाज पढ़ने पर बवाल जारी, गृह मंत्री अनिल विज का ये बयान आया सामने

jantaserishta.com
7 Nov 2021 6:30 PM GMT
गुरुग्राम में खुले में नमाज पढ़ने पर बवाल जारी, गृह मंत्री अनिल विज का ये बयान आया सामने
x

गुरुग्राम में खुले में नमाज पढ़ने को लेकर पिछले एक महीने से बवाल जारी है. गुरुग्राम के सेक्टर 12 में तो स्थिति ज्यादा तनावपूर्ण है जहां पर पिछले कुछ दिनों से पुलिस सुरक्षा के बीच नमाज अदा करवाई जा रही है. अब इस विवाद पर हरियाणा सरकार में गृह मंत्री अनिल विज का बड़ा बयान आया है.

नमाज विवाद पर अनिल विज
इस विवाद पर पहली बार बोलते हुए अनिल विज ने कहा है कि किसी को भी धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन खुले में नहीं करना चाहिए. इन कार्यक्रमों को हमेशा अंदर ही होना चाहिए. उन्होंने किसी विशेष धर्म की बात तो नहीं की, लेकिन स्पष्ट कर दिया कि खुले में धार्मिक कार्यक्रम होना ठीक नहीं है. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि अगर कोई कार्यक्रम आयोजित भी होता है, तो प्रशासन से पहले इजाजत लेना जरूरी है. बिना इजाजत ऐसा करना गलत है.
वैसे अनिल विज का ये बयान इसलिए भी मायने रखता है क्योंकि कुछ दिन पहले ही इसी इलाके में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा भी पहुंच गए थे. गुरुग्राम के जिस सेक्टर 12 में नमाज पढ़ने पर बवाल है, वहीं पर मिश्रा ने हिंदू संघर्ष समिति के सदस्यों संग गोवर्धन पूजा की. उस कार्यक्रम के दौरान मिश्रा ने तल्ख अंदाज में कहा था कि अगर हर धर्म के लोग ऐसे ही पब्लिक एरिया पर अपना हक जमाते रहेंगे, एक दिन ऐसा आ जाएगा कि हर सड़क पर जाम लग जाएगा और कोई कही नहीं जा पाएगा.
किसानों पर बड़ा बयान
अब उसी बयान के बाद विज ने स्पष्ट कर दिया है कि किसी भी तरह के कार्यक्रम को इस तरह खुले में नहीं करना चाहिए. वैसे नमाज विवाद के अलावा अनिल विज ने किसानों के मुद्दे पर भी विस्तार से बात की. उन्होंने बताया कि प्रदर्शन कर रहे किसान खुद ही परेशानियां खड़ी कर रहे हैं. सरकार बातचीत को भी तैयार है और समाधान निकालने को भी, लेकिन किसान खुद तैयार नहीं दिख रहे हैं.
राहुल गांधी पर भी तंज कसते हुए विज ने बोला है कि उन्हें विकास का असल मतलब नहीं पता है. जितना विकास पिछले सात सालों में हुआ है, उतना तो आजादी के बाद भी नहीं हुआ. अगर राहुल गांधी को वो विकास नहीं दिखता है,तो वे कुछ नहीं कह सकते हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta