भारत

गणतंत्र दिवस: शामिल होने वाले प्रतिभागियों और सशस्त्र बलों के लिए वैक्सीन की डबल डोज अनिवार्य

Janta Se Rishta Admin
15 Jan 2022 2:14 AM GMT
गणतंत्र दिवस: शामिल होने वाले प्रतिभागियों और सशस्त्र बलों के लिए वैक्सीन की डबल डोज अनिवार्य
x

दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में ऐसा दूसरी बार होगा जब गणतंत्र दिवस (Republic Day) कोरोना महामारी (Corona) के साए में मनाया जाएगा. जहां पर पिछले साल के विपरीत, जब यह आयोजन इस साल कोरोना की लहर के बीच में हुआ था. वहीं, अब ये समारोह ऐसे समय में होगा जब कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इस दौरान वहां पर आयोजन के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं किया गया है. ऐसे में रक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों ने बताया कि पिछले साल परेड में शामिल होने वाले 25,000 लोगों की तुलना में इस बार 24,000 लोगों को इसे देखने की अनुमति होगी. हालांकि यह आम दर्शकों, गणमान्य व्यक्तियों, सरकारी अधिकारियों, बच्चों, एनसीसी कैडेटों, राजदूतों, सीनियर नौकरशाहों और राजनेताओं के बीच होगी.

अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक पिछली बार की तरह, जोकि बीते 55 सालों में ऐसा पहली बार था, गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में कोई विदेशी गणमान्य व्यक्ति नहीं हो सकता है. इस दौरान भले ही भारत 5 मध्य एशियाई देशों के राष्ट्रपतियों – कजाकिस्तान के कसीम-जोमार्ट टोकायव, उज्बेकिस्तान के शवकत मिर्जियोयेव, ताजिकिस्तान के इमोमाली रहमोन, तुर्कमेनिस्तान के गुरबांगुली बर्दीमुहामेदो और किर्गिस्तान के सदिर जपारोव को मुख्य अतिथि के रूप में नियुक्त करने पर काम कर रहा था. सूत्रों के अनुसार अभी तक उनकी उपस्थिति के बारे में कोई जानकारी स्पष्ट नहीं हुई है. बता दें कि बीते साल ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने उस समय अपने देश में बढ़ते कोविड -19 मामलों के कारण मुख्य अतिथि के रूप में इस कार्यक्रम में भाग लेने का विकल्प चुना था. हालांकि सूत्रों के अनुसार लगभग 1.25 लाख लोग महामारी से पहले परेड में शामिल होते थे, जिसे पिछले साल 25,000 तक सीमित कर दिया गया था. ऐसे में अतिरिक्त सावधानी बरतने के लिए अन्य 1,000 की छंटनी की गई है. इनमें से 5,200 सीटें आम दर्शकों के लिए हैं, जोकि टिकट खरीद सकते हैं. बाकी बचे हुए 19,000 या तो मेहमानों को आमंत्रित किया जाएगा. इस दौरान अधिकारी अभी दर्शकों के लिए वैक्सीनेशन की मांगों के लिए प्रोटोकॉल पर काम कर रहे हैं.

गौरतलब है कि पिछले साल की तरह, दर्शकों को दूर करने के नियमों को सुनिश्चित करने के लिए 6 फीट की दूरी पर बैठाया जाएगा, और मास्क अनिवार्य होगा. इस दौरान पूरे इलाके को सैनेटाइज से साफ किया जाएगा, और बैठने की जगह के लगभग सैनिटाइजर डिस्पेंसर भी लगाए जाने की संभावना है. ऐसे में सभी सांस्कृतिक प्रतिभागियों और सशस्त्र बलों के कर्मियों के लिए वैक्सीन की डबल डोज अनिवार्य कर दिया गया है. साथ ही उन सभी का भी कोविड-19 के टेस्ट किया जाएगा.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it