भारत

राजीव गांधी हमारे दोस्त थे, उनके बच्चों पर हम कोई बात नहीं कहेंगे- कैप्टन अमरिंदर सिंह

jantaserishta.com
15 Feb 2022 2:53 PM GMT
राजीव गांधी हमारे दोस्त थे, उनके बच्चों पर हम कोई बात नहीं कहेंगे- कैप्टन अमरिंदर सिंह
x
पढ़े पूरी खबर

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए 20 फरवरी को वोटिंग है, जिसके चलते राजनीतिक दलों ने प्रचार में पूरी ताकत झोंक रखी है. कांग्रेस छोड़कर पंजाब लोक कांग्रेस के नाम से अलग पार्टी बनाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साफ तौर पर कहा कि राजीव गांधी हमारे दोस्त थे. वो हमारे साथ पढ़ते थे. उनके बच्चों पर हम कोई बात नहीं कहेंगे.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को इसीलिए मुख्यमंत्री पद से हटाया गया कि वो बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार के इशारे पर काम कर रहे थे. इस सवाल पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी बच्चे हैं. प्रियंका और राहुल के बारे में मैं कुछ नहीं बोलूंगा. उनके पिता राजीव गांधी मेरे दोस्त थे और मेरे साथ पढ़ते थे. मैं उनके पिता को 70 साल से जनता हूं. अगर आप सोचते हैं की मैं उनके बच्चों पर हमला करूंगा. तो मैं ऐसा कुछ नहीं करने वाला.
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सरी बात जो ये कह रहे हैं कि बीजेपी के कहने पर हम यहां सरकार चला रहे थे तो यह पूरी तरह से झूठ है. मुख्यमंत्री कि ड्यूटी होती है प्रधान मंत्री के साथ कोआर्डिनेट कर के काम करे. मेरे पास होम डिपार्टमेन्ट था. इसीलिए होम मिनिस्टर के साथ कांटैक्ट थे.
प्रियंका को बच्चा कहने पर अमरिंदर सिंह ने कहा कि मेरे अपने पोते हैं और उनके पिता मेरे अच्छे दोस्त थे. तो ये मेरे लिए बच्चे ही हुए ना. राहुल गांधी की उम्र 50 या 52 होगी और प्रियंका की भी ऐसी ही कुछ. इसका मतलब यह नहीं कि वो आइन्स्टाइन या कोई बहुत बड़े आदमी बन गए. वो लोग एक आम राजनेता ही हैं. जैसे सभी राजनेता होते हैं. समय के साथ उन्हें अनुभव मिलेगा. यही में उनसे पहले कहता था राहुल गांधी के बारे में कि इनको अभी समय चाहिए विकसित होने के लिए.
अमरिंदर सिंह ने कहा कि लोग क्या समझते हैं मुझे पता नहीं. मैं 40 साल तक कांग्रेस में रहा और फिर जिस तरह से निकाला गया वह गलत था. सब एमएलए को कांग्रेस भवन में इकट्ठा किया गया और मेरे खिलाफ वोट दलवाया गया. मैंने उसने कहा यही बात है तो बता दो मैं खुद इस्तीफा दे देता हूँ.
कांग्रेस का पूरा कांसेप्ट बादल गया है. ये जो लोग G23 में बैठे हैं ये सभी सीनियर हैं. कभी उन्हें बुलाकर आप उनसे सलाह लेते हैं. जो कांग्रेस मैंने आज से 50 साल पहले देखी थी अब यह वो नहीं रही. अमरिंदर सिंह ने कहा, "मैं संसद में 1980 में आया था. तब मेरी उम्र 30 साल थी और आज में 80 का हो गया हूं. बताइये कोई अनुभव है या नहीं है. मुझे मालूम हो रहा है न कि देश में और मेरे राज्य में क्या चल रहा है. G23 में कपिल सिब्बल, शशि थरूर, मनीष तिवारी ये सभी बैठे हैं. ये पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं. उनसे कोई कुछ नहीं पूछता. इनके एडवाइजर कौन हैं रणदीप सुरजेवाला और उनका क्या नाम है केसी वेणुगोपाल."

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta