भारत

गणतंत्र दिवस की तैयारी: 15 फरवरी तक दिल्ली नो फ्लाई जोन, 50 हजार जवान तैनात, जानिए और भी बड़ी बातें

jantaserishta.com
18 Jan 2022 12:25 PM GMT
गणतंत्र दिवस की तैयारी: 15 फरवरी तक दिल्ली नो फ्लाई जोन, 50 हजार जवान तैनात, जानिए और भी बड़ी बातें
x

नई दिल्ली: कोविड की तीसरी लहर के बीच इस बार 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाया जाएगा. ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था के साथ साथ कोरोना गाइडलाइन का भी खास ख्याल रखना होगा. इतना ही नहीं, इस बार भी पिछली बार की तरह काफी कम लोग कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

बताया जा रहा है कि इस बार कार्यक्रम में 24000 लोग हिस्सा लेंगे. वहीं, आतंकी हमले के अलर्ट के चलते सुरक्षा में 50 हजार जवान तैनात रहेंगे. इसके अलावा ड्रोन से भी नजर रखी जाएगी. उधर, 15 फरवरी तक दिल्ली नो फ्लाई जोन रहेगी.
डीसीपी दीपक यादव ने बताया कि गणतंत्र दिवस का कार्यक्रम रक्षा मंत्रालय का होता है. इसमें दिल्ली पुलिस सहयोग करती है. 26 जनवरी के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं, जगह जगह पर दिल्ली पुलिस के कमांडो तैनात किए जाएंगे. ड्रोन से भी नजर रखी जाएगी. इसके अलावा दिल्ली पुलिस पैरामिलिट्री और तमाम सुरक्षा एजेंसियों के कुल 50 हजार से अधिक जवान सुरक्षा में तैनात रहेंगे.
इसके अलावा 2 एंटी ड्रोन सिस्टम लगाया जा रहा है. सभी कार्यक्रम स्थल अत्याधुनिक उपकरणों से लैस रहेंगे. दिल्ली पुलिस के करीब 500 अत्याधुनिक CCTV कैमरे लगाए जाएंगे. इजरायली सॉफ्टवेयर से लैस चेहरे पहचाने वाले ऑटोमेटिक (FRC) सिस्टम लगाए जाएंगे.
खास बात यह है कि इस बार 26 जनवरी के परेड कार्यक्रम में बच्चों को देखने की इजाजत नहीं दी गई है. जिन लोगों को कार्यक्रम में शामिल होना है उनके पास कोविड वैक्सीन की दो डोज लगे होने का सर्टिफिकेट होना जरूरी है. इस साल गणतंत्र दिवस के लिए करीब 24,000 लोग शामिल होंगे. इनमें से 19,000 लोगों को आमंत्रित किया जाएगा और शेष आमजन होंगे, जो टिकट खरीद सकेंगे.
परेड के दौरान कोरोना संबंधी सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा. सूत्रों ने बताया कि लोगों के बैठने का प्रबंध करते समय सामाजिक दूरी के नियमों का पालन किया जाएगा. हर जगह सैनेटाइजर का छिड़काव करने वाले उपकरण लगे होंगे और मास्क पहनना अनिवार्य होगा. देश में वैश्विक महामारी कोरोना की मार पड़ने से पहले सन 2020 में करीब 1.25 लाख लोगों को परेड के दौरान उपस्थित रहने की अनुमति थी.
इस बार गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत के समय में बदलाव किया गया है. कार्यक्रम हर बार 10 बजे शुरू होता था, इस बार यह 10.30 बजे शुरू होगा. बताया जा रहा कम विजिबिल्टी के चलते फ्लाई पास्ट नहीं दिख पाता था, इसके चलते समय में बदलाव किया गया. ऑटो चालकों, मजदूरों और फ्रंट लाइन वर्करों के लिए सीटें आरक्षित रहेंगी. जो राजपथ से परेड नहीं देख पाते थे. पूरे राजपथ पर दोनों तरफ 10 बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई जा रही हैं, जिसमें राजपथ पर दूर बैठे लोग जो कि मुख्य कार्यक्रम को ठीक से नहीं देख पाते थे, वे कार्यक्रम को अच्छे से देख पाएंगे.
बीटिंग रिट्रीट में इस बार 1000 से ज्यादा ड्रोन आजादी का अमृत महोत्सव की थीम पर अपना शो पेश करेंग. हजारों ड्रोन के जरिए शो करने वाले दुनिया में भारत चौथा देश बन जाएगा. इससे पहले चीन , रूस और अमेरिका के पास ही एसा तकनीक थी. ये सिस्टम आईआईटी दिल्ली ने तैयार किया गया है.
26 जनवरी के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने पैरा-ग्लाइडर, पैरा-मोटर्स, हैंग ग्लाइडर, यूएवी, यूएएस, माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट, हॉट एयर बैलून, पैरा जंपिंग आदि पर रोक लगा दी है. यह फैसला गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमले के अलर्ट के चलते लिया गया है. अगर कोई ऐसा करता पाया गया तो उस पर कार्रवाई की जाएगी. यह प्रतिबंध 20 जनवरी से 15 फरवरी तक लागू रहेगी.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta