भारत

जहरीली शराब: तीन दर्जन लोगों की संदिग्‍ध मौत, पक्ष विपक्ष ने कही यह बात

jantaserishta.com
21 March 2022 8:24 AM GMT
जहरीली शराब: तीन दर्जन लोगों की संदिग्‍ध मौत, पक्ष विपक्ष ने कही यह बात
x

पटना: जहरीली शराब से हो रही मौतों को लेकर बिहार में पक्ष-विपक्ष ने सीएम नीतीश कुमार को सवालों के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया है. बिहार बीजेपी के SC/ST के प्रदेशाध्यक्ष अजीत चौधरी और राजद नेता शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार से शराबबंदी कानून को वापस लेने के लिए कहा है.

बीजेपी के SC/ST के प्रदेशाध्यक्ष अजीत चौधरी ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को शराबबंदी कानून वापस ले लेना चाहिए. जिस तरह नदी की धार को कोई नहीं रोक सकता उसी तरह शराबी को शराब पीने कोई नहीं रोक सकता. इसलिए सीएम नीतीश कुमार अब अपनी जिद छोड़ दें. और शराबबंदी कानून को वापस लें. उन्होंने कहा कि प्रशासन अपनी गलतियों को छिपाने के लिए झूठ बोल रहे हैं कि शराब से किसी की मौत नहीं हो रही.
वहीं, राजद नेता शिवानंद तिवारी ने कहा की अपनी जिद से कितने लोगों को मरवाएंगे सीएम नीतीश कुमार. प्रशासन के कुछ भी कहने से क्या होगा. भाजपा किस मुंह से इसका विरोध कर रही है. अगर सच में वो चाहती है कि ये कानून वापस हो तो कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जाए. खाली बोलने से कुछ नहीं होगा. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश को शराबबंदी कानून वापस ले लेना चाहिए.
उधर, जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने भी इस पर जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि राज्य में जो मौतें हुई हैं वो शराब से हुई हैं या नहीं, अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई. लेकिन कुछ लोग इसे लेकर पॉलटिकल ट्रायल चला रहे हैं.
बिहार में बीते चार दिनों से जहरीली शराब से कथित मौतों का सिलसिला चल रहा है. राज्य के तीन जिलों में होली के जश्न के बाद 27 लोगों की मौत हो गई है. 27 में से 10 मौतें सिर्फ राज्य के बांका जिले में हुई हैं. कई लोग अस्पताल में भर्ती हैं. इन घटनाओं के बाद मृतक के परिजनों का कहना है कि सभी मौतें राज्य में छिपाकर बिकने वाली जहरीली शराब की वजह से हुई है. इसी प्रकार मधेपुरा जिला के मुरलीगंज में 4 लोगों की संदिग्ध मौत हो गयी है. इन मौतों के पीछे का कारण भी जहरीली शराब बताया जा रहा है.
अब तक मिली जानकारी के अनुसार होली में 22 लोग बीमार हुए. जिन्हें बारी-बारी से मुरलीगंज पीएचसी और निजी अस्पतालों में इलाज के लिए ले जाया गया. 3 मृतक एक गांव दिग्घी के बताये जा रहे हैं, जबकि एक मुरलीगंज मुख्य बाजार के वार्ड 9 के निवासी हैं. हालांकि शराब से मौत के बारे में पुलिस और परिजन इनकार कर रहे हैं, लेकिन हर शव को पुलिस आनन-फानन में रात के अंधेरे में जलाया गया है. वहीं, अभी सिवान से भी जहरीली शराब से दो लोगों की मौत की खबर सामने आई है.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta