भारत

भीषण गर्मी का प्रकोप, कई राज्यों में आज भी लू चलने की संभावना

Janta Se Rishta Admin
15 May 2022 1:26 AM GMT
भीषण गर्मी का प्रकोप, कई राज्यों में आज भी लू चलने की संभावना
x

भारत के अधिकतर राज्यों में इस समय भीषण गर्मी (Heat wave) का प्रकोप है, जिसकी वजह से लोगों को लू के थपेड़े झेलने पड़ रहे हैं. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया है कि आज भी कई राज्यों में लू का प्रकोप जारी रहेगा. विभाग ने बताया है कि पश्चिमी राजस्थान के अधिकांश स्थानों पर लू की स्थिति बने रहने की संभावना है. जबकि, पूर्वी राजस्थान के कई हिस्सों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, मध्य प्रदेश, जम्मू कश्मीर, दक्षिण हरियाणा, दिल्ली, पंजाब और विदर्भ में भी लू की स्थिति जारी रहेगी. आईएमडी ने अपने वेदर बुलेटिन में कहा कि अगले दो दिन के बाद इन प्रदेशों में तापमान नीचे गिरेगा और लू से राहत मिलेगी.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने 16 मई तक केरल के एर्नाकुलम और इडुक्की जिलों के लिए रेड अलर्ट जबकि दक्षिणी जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. इस बीच, मुख्य सचिव वीपी जॉय ने जिलाधिकारियों की एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई और आवश्यकता पड़ने पर राहत शिविर स्थापित करने के निर्देश जारी किए. बैठक के दौरान मुख्य सचिव ने कोई भी आपात स्थिति होने की सूरत में लोगों को सूचित करने के लिए एक अलार्म प्रणाली स्थापित करने का भी निर्देश दिया.

इससे पहले दिन में, मौसम वैज्ञानिकों ने कहा कि शनिवार के लिए एर्नाकुलम और इडुक्की के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया, जबकि तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पठानमथिट्टा, अलप्पुझा, कोट्टायम और त्रिशूर जिलों के लिए 16 मई तक ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. रेड अलर्ट चौबीस घंटों में 20 सेंटीमीटर से अधिक भारी से बहुत भारी बारिश का संकेत देता है. ऑरेंज अलर्ट का मतलब छह सेंटीमीटर से 20 सेंटीमीटर तक बहुत भारी बारिश है. येलो अलर्ट का मतलब है छह से 11 सेंटीमीटर के बीच भारी बारिश. आईएमडी ने कहा कि केरल तट पर 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है और मछुआरों को 16 मई तक समुद्र की तरफ न जाने की सलाह दी गई है.

राजस्थान में भीषण गर्मी का दौर जारी है जहां 23 शहरों में शनिवार को अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया. तेज गर्मी व लू चलने के कारण आम जनजीवन ठप सा हो गया है और लोग घरों से निकलने से बच रहे हैं. मौसम विभाग के मुताबिक, शनिवार को सबसे ज्यादा तापमान धौलपुर में रहा जहां पारा 48.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. विभाग के आंकड़ों के अनुसार, 23 शहरों में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया.

राज्य के गंगानगर में अधिकतम तापमान 48.3 डिग्री सेल्सियस, बीकानेर में 48.2 डिग्री, करौली में 47.9 डिग्री, संगरिया में 47.8 डिग्री, चुरू में 47.5 डिग्री, जैसलमेर और फलोदी में 47.4 डिग्री, अलवर और पिलानी में 47.3 डिग्री, नागौर में 47 डिग्री, सवाई माधोपुर में 46.9 डिग्री, अंता में 46.8 व बूंदी में 46.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. राजधानी जयपुर में पारा 45.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

भीषण गर्मी में यमुना नदी सूखने और हरियाणा सरकार द्वारा आपात संदेश (एसओएस) का जवाब नहीं देने के बीच दिल्ली में पेयजल की मांग को मुश्किल से पूरा किया जा रहा है. वजीराबाद जलाशय का जलस्तर कम होकर 670.70 फुट रह गया है, जो इस साल का सबसे निचला स्तर है. गुरुवार को यह 671.80 फुट था. पिछले साल 11 जुलाई को जलाशय का स्तर 667 फुट तक कम हो गया था, जिसके बाद दिल्ली जल बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट का रुख कर हरियाणा सरकार को यमुना में अतिरिक्त पानी छोड़ने के लिए निर्देश देने का अनुरोध किया था.

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, केरल, लक्षद्वीप और तमिलनाडु और दक्षिण कर्नाटक के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और तमिलनाडु के शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. गोवा, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, दक्षिण छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश, गोवा, मराठवाड़ा, तेलंगाना और पश्चिमी हिमालय के कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta