Top
भारत

गठबंधन पर अखिलेश यादव ने कहा- 'बड़े दलों के साथ अच्छा नहीं रहा अनुभव, छोटे दलों को देंगे वरीयता'

Kunti
21 July 2021 5:16 PM GMT
गठबंधन पर अखिलेश यादव ने कहा- बड़े दलों के साथ अच्छा नहीं रहा अनुभव, छोटे दलों को देंगे वरीयता
x
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव- 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) की तैयारियों में सभी दल जुट गए हैं.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव- 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) की तैयारियों में सभी दल जुट गए हैं. सपा ने भी लोगों के बीच में जाने की शुरुआत कर दी है. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बुधवार को उन्नाव दौरे पर पहुंचे. यहां उन्होंने पूर्व मंत्री दिवंगत नेता मनोहर लाल की मूर्ति का अनावरण किया. इस दौरान उनके साथ कई सपा नेता मौजूद थे.

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने यहां गठबंधन को लेकर बड़ी बात कही. उन्होंने कहा कि बड़े दलों के साथ गठबंधन का हमारा अनुभव अच्छा नहीं रहा है. इसलिए हम बड़े दलों के साथ गठबंधन नहीं करेंगे. छोटे दलों के साथ गठबंधन को हम वरीयता देंगे. मायावती के ब्राह्मण सम्मेलन पर अखिलेश यादव ने कहा कि मैं इस पर कुछ नहीं कहूंगा. लोगों ने उनकी सरकार देखी है. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ी है. सपा ने जो काम किया था, वही जनता के काम आ रहे हैं.
ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों पर राज्यों के आंकड़ों पर अखिलेश यादव ने कहा कि उन्नाव से लेकर गाजीपुर से बक्सर तक गंगा मैया ने लाशें वापस कर दीं. लोग तड़प रहे थे. लाखों लोगों की जान गई है. सरकार का यह कहना कि ऑक्सीजन पर्याप्त थी और उसकी कमी से मौत नहीं हुई यही सबसे बड़ा झूठ है.
BJP अपने संकल्प पत्र पर बात करे
अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी का घोषणा पत्र जनता के हित में होगा. गरीबों, किसानों के लिए होगा. यहां उन्होंने कहा कि बीजेपी को अपने घोषणा पत्र पर बात करनी चाहिए. क्योंकि उन्होंने उसे कचरे के डब्बे में फेंक दिया है. चार साल हो गए हैं, लेकिन बीजेपी अपने घोषणा पत्र पर ही बात नहीं करना चाहती है. महंगाई, भ्रष्टाचार के साथ इस तरह से गुंडई है जितनी आज तक जनता ने नहीं देखी है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it