भारत

'आतंकवाद निरोधक सशस्त्र' अभ्यास कर रहे हैं NSG कमांडो

Kunti Dhruw
24 Aug 2021 9:50 AM GMT
आतंकवाद निरोधक सशस्त्र अभ्यास कर रहे हैं NSG कमांडो
x
आतंकवाद रोधी बल ‘राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड’ उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश और गुजरात के विभिन्न शहरों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक साथ कमांडो अभ्यास है.

आतंकवाद रोधी बल 'राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड' (NSG) उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) , मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) और गुजरात (Gujrat) के विभिन्न शहरों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक साथ कमांडो अभ्यास कर रहा है. एनएसजी,विमान अपहरण और बंधक बनाए जाने जैसी परिस्थितियों से निपटने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर यह अभ्यास कर रही है. सोमवार को जारी एक बयान में कहा गया कि सप्ताह भर चलने वाले इस अभ्यास के तीसरे वार्षिक संस्करण को 'गांडीव' नाम दिया गया है और उक्त स्थानों पर 22 अगस्त को इसकी शुरुआत की गई है.

एनएसजी का यह कमांडो अभ्यास 28 अगस्त तक चलेगा. 'गांडीव' महाभारत में अर्जुन के धनुष का नाम था. बयान में कहा गया, "इस अभ्यास में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात के विभन्न शहरों के उन स्थानों को शामिल किया गया है जो आतंकी घटनाओं के संभावित लक्ष्य हो सकते हैं. इसमें 30-35 ऐसे स्थानों को चुना गया है." गुजरात में अहमदाबाद और गांधीनगर में सशस्त्र कमांडो यह अभ्यास करेंगे. बयान में कहा गया कि विदेश मंत्रालय, गृह मंत्रालय, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों, राज्य एजेंसियों और विदेशी प्रतिनिधि इन अभ्यासों को देखेंगे.
आतंकवाद विरोधी गतिविधियों के लिए उपयोग किया जाता है
राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) भारत की एक विशेष प्रतिक्रिया यूनिट है जिसका मुख्य रूप से आतंकवाद विरोधी गतिविधियों के लिए उपयोग किया गया है. इसका गठन भारतीय संसद के राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड अधिनियम के तहत कैबिनेट सचिवालय द्वारा 1986 में किया गया था. यह पूरी तरह से केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बल के ढांचे के भीतर काम करता है.
एनएसजी गृह मंत्रालय के निरीक्षण में काम करती है और इसका नेतृत्व भारतीय पुलिस सेवा का महानिदेशक करता है. महानिदेशक हमेशा एक आईपीएस अधिकारी होता है जबकि इसमें भर्ती भारत की केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बल और भारतीय सशस्त्र बलों से की जाती है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta