भारत

प्रेम संबंध के शक में हत्या, टैटू के कारण कांस्टेबल पहुंचा सलाखों के पीछे

Admin1
11 Oct 2021 9:20 AM GMT
प्रेम संबंध के शक में हत्या, टैटू के कारण कांस्टेबल पहुंचा सलाखों के पीछे
x
जानिए पूरा मामला.

मुंबई: महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के एंटोप हिल इलाके में 29 सितंबर को एक शव मिला था. सिर कटा था और शव अधजला था. एसीपी कार्यालय के पास जिस शख्स का शव मिला था, उसके हाथ-पैर के दो टुकड़े हो गए थे. शरीर जल गया था. शव की शिनाख्त भी नहीं हो पा रही थी लेकिन मुंबई पुलिस ने न केवल इस शव की शिनाख्त की, बल्कि अब इस हत्याकांड का खुलासा भी कर दिया है.

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा के मुताबिक मृतक की पहचान सोलापुर निवासी दादा जगदाले के रूप में हुई है. उसकी हत्या के आरोप में मुंबई पुलिस की मोटर व्हीकल सेल में तैनात कांस्टेबल 45 साल के शिवशंकर तिवारी को गिरफ्तार किया गया है.
प्रेम संबंध के शक में हत्या
शिवशंकर एसीपी एंटोप हिल डिवीजन में ड्राइवर के पद पर तैनात था. हत्या के पीछे दादा जगदाले का शिवशंकर तिवारी की पत्नी के साथ प्रेम प्रसंग वजह बताया जा रहा है. आरोप के मुताबिक शिवशंकर को अपनी पत्नी के अवैध संबंध के बारे में पता चला तो उसने दादा जगदाले की हत्या कर दी और सिर काटकर शव को ठिकाने लगा दिया
मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच के मुताबिक शव को ठिकाने लगाने में शिवशंकर की पत्नी मोनाली गायकवाड़ ने भी सहयोग किया. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां कोर्ट ने दोनों को 14 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया.
टैटू से मिला सुराग
बताया जाता है कि दादा जगदाले के शव की शिनाख्त में मुश्किलें आ रही थीं. मृतक के शरीर पर दादा का टैटू था. पुलिस ने इसी टैटू के साथ जांच शुरू की और डंप डेटा के सहारे पुलिस को एक नंबर मिला जो सोलापुर का था. पुलिस ने दादा जगदाले के परिजनों से संपर्क साधा तो उसके लापता होने की पुष्टि हुई.
मुंबई पुलिस ने दादा जगदाले का कॉल रिकॉर्ड खंगाला तो पता चला कि शिवशंकर ने उसे फोन किया था. दादा जगदाले ने शिवशंकर की पत्नी मोनाली के फोन पर कई कॉल किए थे. जिस जगह दादा जगदाले का शव पाया गया था, उसके आसपास की सीसीटीवी फुटेज खंगाली गई तो शिवशंकर की निजी कार देखी गई.
पुलिस ने इस आधार पर जांच आगे बढ़ाई तो ये खुलासा हो गया कि दादा जगदाले की हत्या शिवशंकर तिवारी और उसकी पत्नी मोनाली गायकवाड़ ने ही की. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया.
एक ही गांव के थे दादा और मोनाली
मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच के मुताबिक दादा जगदाले और मोनाली गायकवाड़ सोलापुर जिले के एक ही गांव के थे. एकबार पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था. झगड़े के बाद मोनाली अपने गांव चली गई थी. इसी दौरान उसका अफेयर दादा जगदाले से हो गया. उसके मुंबई आ जाने के बाद भी दादा जगदाले उसे फोन करता रहता था. इस अफेयर की जानकारी जब शिवशंकर को हुई तो वह आगबबूला हो गया. उसने दादा जगदाले को मारने की योजना बना डाली.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it