भारत

मिशन 2024: बीजेपी ने तेज की तैयारी

jantaserishta.com
6 May 2022 5:54 AM GMT
मिशन 2024: बीजेपी ने तेज की तैयारी
x

नई दिल्ली: मार्च 2022 में पांच में से चार राज्यों में जीत के बाद भारतीय जनता पार्टी अब अपनी ताकत 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए लगानी शुरू कर दी है. पार्टी ने उन 150 से अधिक सीटों की सूची बनाई है जहां उसे अपनी स्थिति को मजबूत करना है. पार्टी के दो कद्दावर नेताओं गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरों का कार्यक्रम भी बनाया गया है. अब दोनों ही नेता हर महीने देशभर में दौरा कर संगठन को मजबूत करने पर ध्यान देंगे.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस महीने की शुरुआत कर्नाटक दौरे से की है और फिलहाल समय वे पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं. पश्चिम बंगाल में पिछले साल विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार के बाद से उनका यह पहला दौरा है. अमित शाह के इस दौरे का मकसद पश्चिम बंगाल में बीजेपी में पड़ी फूट को खत्म करना और कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाना है.
पश्चिम बंगाल के बाद अमित शाह 9 और 10 मई को असम के दौरे पर रहेंगे. वहां वे भाजपा सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ के समारोह में हिस्सा लेंगे. 14 मई को वे तेलंगाना और 15 मई को केरल के दौरे पर रहेंगे. गृह मंत्री अमित शाह 20 मई को उत्तराखंड और 21 तथा 22 मई को अरुणाचल प्रदेश का दौरा करेंगे. वे 27 मई को महाराष्ट्र जबकि 28 और 29 मई को चुनावी राज्य गुजरात में रहेंगे. इन सभी दौरों को इस तरह बनाया गया है जिनमें शाह सरकारी कार्यक्रमों के साथ ही पार्टी संगठन के कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगे तथा इन सभी राज्यों में बीजेपी नेताओं के साथ बैठक करेंगे. केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने पिछले महीने कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान, बिहार आदि राज्यों का दौरा किया था.
वहीं, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा गुरुवार को तेलंगाना में थे जहां उन्होंने एक बड़ी रैली को संबोधित किया था और आज वे केरल दौरे पर हैं. केरल से वापसी के बाद वे 12 मई को उत्तर प्रदेश जा सकते हैं. वहां से आने के बाद 13 और 14 मई को अपने गृह राज्य हिमाचल प्रदेश का दौरा करेंगे जहां इस साल के अंत में चुनाव होना है. इसके अगले दिन यानी 15 मई को नड्डा पंजाब के दौरे पर रहेंगे. फिर 19 और 20 मई को राजस्थान का दौरा करेंगे जहां पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक बुलाई गई है.
गौरतलब है कि बीजेपी ने देश भर में ऐसे 73 हजार बूथों की पहचान की है जहां वह कमजोर है. इसके साथ ही 150 लोक सभा सीटें ऐसी हैं जहां बीजेपी कमजोर है. पार्टी को उम्मीद है कि शाह और नड्डा के दौरों से इन बूथों और लोकसभा सीटों पर पार्टी को मजबूत करने के मिशन में तेजी आएगी. इसके अलावा बीजेपी सदस्यता अभियान, चंदा अभियान आदि में भी तेजी लाना चाहती है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta