भारत

किडनैप हुए कारोबारी को पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में छुड़ाया, 4 अपहरणकर्ता गिरफ्तार

Janta Se Rishta Admin
6 Aug 2022 1:27 AM GMT
किडनैप हुए कारोबारी को पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में छुड़ाया, 4 अपहरणकर्ता गिरफ्तार
x

मुंबई। जल्दी अमीर बनने के लालच में कुछ युवाओं ने एक कारोबारी को किडनैप कर लिया. घटना महाराष्ट्र स्थित ठाणे जिले के डोंबिवली की है. यहां पांच लोगों ने एक व्यापारी को अगवा कर 50 लाख की फिरौती मांगी. शिकायत मिलने पर पुलिस ने गांववालों की तरह हुलिया बनाकर पांच में से चार आरोपियों को फिल्मी स्टाइल में दबोच लिया. व्यापारी को पुलिस ने अपहरणकर्ताओं के चंगुल से सुरक्षित छुड़ा लिया है.

जानकारी के अनुसार, संजय रामकिशन विश्वकर्मा (39), संदीप ज्ञानदेव रोकाडे (39), धर्मदाज अंबादास कांबले (36) और रोशन गणपत सावत (40) और इकबाल शेख डोंबिवली शहर के रहने वाले हैं. इन सभी ने मिलकर हिम्मत नाहर नाम के व्यापारी का अपहरण कर लिया और 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी. आरोपियों ने अपहरण के लिए टूर एंड ट्रेवल्स से चार पहिया वाहन बुक किया था.

दरअसल, डोंबिवली स्थित हिम्मतनाहर की डेलिक्स प्लाइवुड की दुकान है. 3 अगस्त को संजय विश्वकर्मा नाम का एक व्यक्ति आया और सामान का सौदा करने के बाद वह व्यापारी को अपने साथ कार में बैठाकर साथ ले गया और उसने व्यापारी हिम्मत नाहर का अपहरण कर लिया. कुछ ही घंटों में हिम्मत के भतीजे जीतू को फोन आया. फोन करने वाले ने व्यापारी को रिहा करने के एवज में 50 लाख की फिरौती मांगी. जीतू ने मानपाड़ा थाने में शिकायत दर्ज कराई. मानपाड़ा थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शेखर बागड़े ने टीम बनाई. इसके बाद अपहरणकर्ताओं को जीतू के जरिए पैसे देने के बहाने एक जगह बुलाया गया.

जीतू को शहापुर में मुंबई-आगरा रोड पर गोठेघर गांव के पास एक स्थल पर पैसे लाने के लिए कहा गया था. जीतू वहां पहुंच गया. इस दौरान पुलिस ने पहले से ही जाल बिछाया हुआ था. गोठेघर इलाके में ग्रामीणों के वेश में पुलिसकर्मियों की चार टीमें तैनात थीं. जीतू को निर्देश दिया गया था कि आरोपी को पैसे देने से पहले हिम्मत नाहर की मांग करे. जीतू पैसे की थैली लेकर सुरंग के पास खड़ा था. एक कार मौके पर आई. जब किडनैपर्स ने पैसे की मांग की तो उसने पहले हिम्मत नाहर को सौंपने की बात कही. लेकिन किडनैपर्स बोले, 'तुम्हारे चाचा को गांव के एक घर में रखा है.' इस पर जीतू ने पैसे देने से मना कर दिया तो उनके बीच कहासुनी होने लगी.

इसी दौरान मौका देखकर पुलिस ने कार को घेर लिया और सभी को पकड़ने के बाद हिम्मत नाहर को गांव के एक कमरे से सुरक्षित रिहा करवाया. पुलिस ने संजय विश्वकर्मा, संदीप रोकाडे, धर्मराज कांबले और रोशन सावंत को गिरफ्तार किया है जबकि पांचवां आरोप फरार है.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta