भारत

सहेली के साथ मिलकर पति को मौत के घाट उतारा, पत्नी गिरफ्तार

jantaserishta.com
24 May 2022 9:52 AM GMT
सहेली के साथ मिलकर पति को मौत के घाट उतारा, पत्नी गिरफ्तार
x

हुगली: पश्चिम बंगाल के हुगली में पुलिस ने हत्या की एक ऐसी गुत्थी सुलझाई है जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे. दरअसल प्यार और पसंद को लेकर एक महिला ने अपने ही दोस्तों के साथ मिलकर पति को मौत के घाट उतार दिया. जांच पड़ताल के बाद जब इसकी सच्चाई सामने आई तो सभी लोग हैरान रह गए.

दरअसल हुगली में बीते दिनों एक 25 साल के युवक शुभज्योति बसु की हत्या कर दी गई थी और उसका सिर कटा हुआ शव पुलिस को बरामद हुआ था. अब पुलिस ने युवक की हत्या के आरोप में मृतक की पत्नी चंदना उसकी सहेली पूजा चटर्जी, शर्मिष्ठा, भास्कर अधिकारी और सहेली के पति सुवीर अधिकारी को गिरफ्तार किया है.
मामले की जानकारी देते हुए चंदननगर पुलिस कमिश्नरेट के डीसीपी (श्रीरामपुर जोन) डॉ अरविंद आनंद ने बताया कि डेढ़ महीने पहले उत्तर 24 परगना के खरदह थाना इलाके के पानीहाटी के रहने वाले शुभज्योति बसु ने एक युवती से शादी रचाई थी. इसी दौरान उसकी जान पहचान पत्नी की सहेली शर्मिष्ठा से हुई
शर्मिष्ठा से मिलने के बाद शुभज्योति ने अपनी पत्नी को छोड़कर सहेली को प्यार का प्रस्ताव दिया जो कि शर्मिष्ठा को नागवार गुजरा. उसने यह सारी बातें अपने पति सुबीर और अपनी सहेली और शुभज्योति की पत्नी पूजा को बताई .
मामले की जानकारी मिलने पर शर्मिष्ठा के पति सुबीर और शुभज्योति की पत्नी यह जानकर आग बबूला हो गई और उन्होंने शुभज्योति को एक खतरनाक सबक सिखाने का प्लान बनाया.
सोची-समझी साजिश के तहत मृतक शुभज्योति को पहले हुगली के उत्तरपारा में बुलाया गया और वहां कोननगर के ईंट भट्टी में उसे शराब पिलाई गई. शराब के नशे में धुत होने के बाद शुभज्योति बसु का सिर शर्मिष्ठा के पति सुबीर ने धारदार हथियार से काटकर धड़ से अलग कर दिया.
फिर आरोपियों ने मृतक के कटे सिर को नदी में फेंक दिया और धड़ को वैन में डालकर दिल्ली रोड के किनारे ड्रेन में ठिकाने लगा दिया. चंदननगर पुलिस कमिश्नरेट के डीसीपी डॉ अरविंद आनंद ने दावा करते हुए बताया कि पुलिस के लिए यह केस मर्डर मिस्ट्री साबित हो रही थी और हम अंधेरे में तीर चला रहे थे क्योंकि मौका- ए-वारदात पर पुलिस को कोई सबूत नहीं मिला था.
अधिकारी ने कहा कि चंदननगर कमिश्नरेट के एसीपी शुभतोस सरकार और श्रीरामपुर थाने के दीबेदु दास जांच अधिकारियों के साथ मिलकर लगातार केस की गुत्थी को सुलझाने की कोशिश में जुटे हुए थे.
अंत में सोशल मीडिया के माध्यम से जब मृतक के परिजनों ने शुभज्योति के हाथ पर बने टैटू को देखा तो उन्होंने उसकी पहचान कर ली जिसके बाद परिजनों को शव के शिनाख्त के लिए बुलाया गया.
मृतक की पहचान होते ही पुलिस के लिए केस आसान हो गया और पुलिस ने हत्या के आरोप में उसकी पत्नी, सहेली और सहेली के पति को गिरफ्तार कर लिया.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta