भारत

गृह मंत्रालय: 81 हजार पैरामिलिट्री जवानों ने ली स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति, 15,904 जवानों ने दिया इस्तीफा

Kunti Dhruw
16 July 2021 6:36 PM GMT
गृह मंत्रालय: 81 हजार पैरामिलिट्री जवानों ने ली स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति, 15,904 जवानों ने दिया इस्तीफा
x
गृह मंत्रालय ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) जैसे अर्धसैनिक बलों में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने वाले जवानों का आंकड़ा जारी किया है।

नई दिल्ली, गृह मंत्रालय ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) जैसे अर्धसैनिक बलों में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने वाले जवानों का आंकड़ा जारी किया है। पिछले एक दशक में 81,000 से ज्यादा जवानों ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का रास्ता चुना। अकेले 2017 में ही 11,000 से ज्यादा जवानों ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति रास्ता अपनाया।

15,904 कर्मियों ने दिया इस्तीफा
2011 से 2020 की इस अवधि में 15,904 कर्मियों ने इस्तीफा भी दिया। 2013 में सबसे ज्यादा 2,332 लोगों ने इस्तीफा दिया था। आंकड़े सीआरपीएफ, बीएसएफ, इंडो-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) और असम राइफल्स से संबंधित हैं।
निजी कारणों से हुए अलग
मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों से अलग होने वाले जवानों को लेकर कारण नहीं बताया है। हालांकि इन बलों द्वारा किए गए आंतरिक विश्लेषण में पाया गया कि ज्यादातर जवान निजी या पारिवारिक मसलों, स्वास्थ्य संबंधी परेशानी या बेहतर करियर विकल्प के चलते स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति या इस्तीफा का रास्ता चुनते हैं।
स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति
बीएसएफ - 36,768
सीआरपीएफ - 26,264
सीआइएसएफ - 6,705
असम राइफल्स - 4,947
एसएसबी - 3,230
आइटीबीपी - 3,193
इस्तीफा
सीआइएसएफ - 5,848
बीएसएफ - 3,837
सीआरपीएफ - 3,366
आइटीबीपी - 1,648
एसएसबी - 1,031
असम राइफल्स - 174
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta