भारत

दिल्ली के इन इलाकों में तेज बारिश, जलभराव और सड़क जाम से हुई दिक्कत

Kunti Dhruw
31 Aug 2021 11:02 AM GMT
दिल्ली के इन इलाकों में तेज बारिश, जलभराव और सड़क जाम से हुई दिक्कत
x
बीते कुछ दिनों से उमस और गर्मी की मार झेल रही राजधानी में मंगलवार सुबह झमाझम बारिश ने लोगों के मिजाज को खुश कर दिया।

बीते कुछ दिनों से उमस और गर्मी की मार झेल रही राजधानी में मंगलवार सुबह झमाझम बारिश ने लोगों के मिजाज को खुश कर दिया। पूर्वी, दक्षिणपूर्वी, उत्तरपूर्वी, उत्तर दिल्ली, दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, दादरी, मेरठ और मोदीनगर में आज सुबह से ही तेज बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने आज सुबह ही इन इलाकों में बारिश का पूर्वानुमान जताया था।

लगातार हो रही बारिश के कारण विकास मार्ग, जीटी रोड, आईपीओ, कश्मीरी गेट समेत ज्यादातर बड़े प्वाइंट्स पर जलभराव व जाम की स्थिति बन गई है। वाहनों को भी आवाजाही में परेशानी हो रही है। पैदल चलने वालों को तो सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है।

बारिश के बाद ट्रैफिक पुलिस ने अलर्ट जारी कर उन जगहों के बारे में बताया है जहां जलजमाव के कारण भारी परेशानी हो रही है। ऐसे में इन रास्तों से गुजरने से लोगों को बचना चाहिए। निम्न मार्गों पर हो रही है दिक्कतें-
-रिंग रोग हयात होटल
-सावित्रि फ्लाइओवर के दोनों ओर
-महारानी बाग निजामुद्दीन खत्ता
-कैरेजवे धौला कुआं से 11 मूर्ति जाने वाली सड़क
-आनंद पर्वत गलि संख्या 10
-एसपी मार्ग से आरएमएल जाने वाली सड़क
-पुल प्रहलादपुर अंडरपास
-छाता रेल
-मोतीलाल नेहरू मार्ग और 11 मूर्ति के पास
-विज्ञान भवन के पास मौलाना आजाद रोड
विभाग के मुताबिक अगले तीन-चार दिनों के दौरान निंरतर के बजाए रूक-रूककर बारिश हो सकती है। हालांकि बादल छाए रहने और बारिश होने के बावजूद तापमान में अधिक गिरावट होने की संभावना नहीं है।
राजधानी में वसे तो शनिवार से बारिश हो रही है। दो-तीन इलाकों में ही शनिवार व रविवार को कुछ पल के लिए हल्की बारिश हुई है, मगर अब शुक्रवार तक बारिश होने का दौर चलने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार आज से शुक्रवार तक बादल छाए रहेंगे और अधिक तेज व निरंतर बारिश नहीं होगी। इस कारण तापमान में अधिक गिरावट नहीं होगी।
बदलते मौसम के कारण बढ़ रहीं बीमारियां
बारिश के साथ बदले मौसम में बीमारियां अचानक से बढ़ गई हैं। वायरल फीवर और टायफाइड के बाद डायरिया से पीड़ित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। मरीजों में उल्टी, दस्त, पेट दर्द, के लक्षण हैं। डॉक्टरों का कहना है कि इस समय लोगों को खास सावधानी बरतने की जरूरत है। अगर किसी भी व्यक्ति को बुखार आ रहा है तो तुरंत चिकित्सकों की सलाह लेनी चाहिए।

इसके अलावा राजधानी में 31 जुलाई तक स्वाइन फ्लू के सिर्फ दो ही मामले सामने आए थे। 25 अगस्त तक सिर्फ चार सप्ताह के अंदर इनकी संख्या बढ़कर 60 हो गई है। कई मरीजों को कोरोना संक्रमण के डर के चक्कर में अस्पताल जाकर जांच कराई तो उनकी कोविड़ रिपोर्ट तो निगेटिव आयी लेकिन स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो गई।
Next Story