भारत

स्वास्थ्य मंत्रालय-कुंभ मेले के दौरान हुए कोरोना टेस्टिंग में फर्जीवाड़े पर 7-8 में आएगी विस्तृत रिपोर्ट

Chandravati Verma
15 Jun 2021 5:12 PM GMT
स्वास्थ्य मंत्रालय-कुंभ मेले के दौरान हुए कोरोना टेस्टिंग में फर्जीवाड़े पर 7-8 में आएगी विस्तृत रिपोर्ट
x
कुंभ मेले के दौरान कराए गए फर्जी कोरोना टेस्टों पर विस्तृत रिपोर्ट कुछ ही दिनों में आ सकती है

इस साल अप्रैल में हरिद्वार में आयोजित हुए कुंभ (Haridwar Kumbh Mela) मेले में हजारों श्रद्धालुओं ने शाही स्नान किया जिससे कोरोना के नियमों (Corona Guidlines) की खूब धज्जियां उड़ीं. इस दौरानप्राइवेट लैब की तरफ से कोरोना फर्जी रिपोर्ट दिए जाने का मामला भी सामने आया जिसको लेकर अब केंद्र स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट हेल्थ सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि कुंभ मेले के दौरान कराए गए फर्जी कोरोना टेस्टों पर विस्तृत रिपोर्ट कुछ ही दिनों में आ सकती है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक कुंभ मेले का दौरान लोगों के कोरोना टेस्ट कर रही एक प्राइवेट एजेंसी ने एक लाख से ज्यादा कोरोना की फर्जी रिपोर्ट जारी की थीं. लव अग्रवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेस के दौरान कहा कि "कुंभ मेले के दौरान ICMR ने इस बारे में राज्य सरकार को बताया था और राज्य सरकार ने कंट्रोल रूम के जरिए सैंपल कलेक्टर्स को बुलाया. राज्य सरकार ने इस मामले में प्रारंभिक जांच की है और हरिद्वार के डीएम ने इस पर एक्शन रिपोर्ट तैयार की है जिसमें इसके पीछे कौन जिम्मेदार है, इस बारे में बताया गया है.
शुरुआती जांच में पता चला था कि इसमें कई प्राइवेट लैब शामिल थे जो लोगों को फोन नंबर और आइडेंटिटी कार्ड के आधार पर कोरोना की फर्जी रिपोर्ट दे रहे थे, जिसके बाद हरिद्वार के डीएम ने हाल ही में इस मामले में जांच के आदेश दिए थे.
लव अग्रवाल ने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इस बारे में चर्चा की है, हालांकि फर्जी रिपोर्ट के आंकड़े अभी साफ नहीं हो पाए हैं. उन्होंने बताया कि आंकड़े जांच पूरी होने के बाद ही साफ हो पाएंगे. स्टेट हेल्थ सेक्रेटरी इस मामले में 7-8 दिनों के अंदर विस्तृत रिपोर्ट सौंपेंग जिसके बाद राज्य स्तर पर ही एक्शन लिया जाएगा


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it