भारत

नकली कीटनाशक दवाइयां बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश, दिल्ली पुलिस ने दो आरोपी की गिरफ्तार

Kunti Dhruw
2 Aug 2021 5:35 PM GMT
नकली कीटनाशक दवाइयां बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश, दिल्ली पुलिस ने दो आरोपी की गिरफ्तार
x
दिल्ली पुलिस ने बड़ी-बड़ी कंपनियों के नाम पर नकली कीटनाशक दवाई बनाने वाली दो फैक्ट्रियों पर छापा मारकर भारी मात्रा में नकली कीटनाशक दवाइयां बरामद की हैं.

दिल्ली पुलिस ने बड़ी-बड़ी कंपनियों के नाम पर नकली कीटनाशक दवाई बनाने वाली दो फैक्ट्रियों पर छापा मारकर भारी मात्रा में नकली कीटनाशक दवाइयां बरामद की हैं. दिल्ली पुलिस ने इन कंपनियों से शिकायत मिलने के बाद यह कार्रवाई की. पुलिस के मुताबिक दोनों फैक्ट्री बाहरी दिल्ली के हिरण कुंड गांव में चल रही थीं. पुलिस ने ट्रेडमार्क एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर 2 लोगों को गिरफ्तार किया है

मोमबत्ती का बिज़नेस ठप पड़ने के बाद शुरू की नकली कीटनाशक बनाने की फैक्ट्री
दिल्ली पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी मोहनलाल और अमन ने पूछताछ में बताया कि इनकी दिल्ली में कीटनाशक की दुकान है. पिछले कुछ समय से इनका का काम ठप चल रहा था. आरोपी मोहनलाल का मोमबत्तियों का भी बिज़नेस था. लेकिन इस काम में भी उसे नुकसान हो रहा था. जिसके चलते इन्होंने राजस्थान और पंजाब के रहने वाले दो लोगों के साथ मिलकर नकली पेस्टिसाइड बनाने की फैक्ट्री शुरू की. पुलिस के मुताबिक इस मामले में उन्हें विजय और राजू नाम के दो लोगों की तलाश है. ये लोग पंजाब और राजस्थान के रहने वाले हैं.
नकली कीटनाशक दवाइयों को बेचने से लेकर बनाने तक कि अलग अलग थी ज़िम्मेदारी
दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस फैक्ट्री में नकली कीटनाशक दवाइयों को बनाने की जिम्मेदारी मोहनलाल और अमन की थी जबकि इन कीटनाशक दवाइयों की पैकेजिंग की जिम्मेदारी राजू को दी गई थी. वहीं बड़े-बड़े ब्रांड की इन नकली कीटनाशक दवाइयों को बेचने और सप्लाई करने की जिम्मेदारी राजस्थान के रहने वाले विजय की थी. फिलहाल पुलिस विजय और राजू दोनों की तलाश कर रही है. जिससे ये पता चल सके कि ये अब तक कहां-कहां और कितनी नकली कीटनाशक दवाइयां बेच चुके है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta