भारत

ब्लैकमेल करने वाला फर्जी आईपीएस अफसर गिरफ्तार, पूछताछ में हुआ ये खुलासा

Janta Se Rishta Admin
11 Oct 2021 5:20 PM GMT
ब्लैकमेल करने वाला फर्जी आईपीएस अफसर गिरफ्तार, पूछताछ में हुआ ये खुलासा
x
पढ़े पूरी खबर

एसटीएफ की प्रयागराज फील्ड इकाई ने हाईकोर्ट हनुमान मंदिर चौराहे के समीप से एसटीएफ का फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर ठगी करने वाले युवक को गिरफ्तार किया। उसके कब्जे से आईपीएस की वर्दी मय बैच, कैप, बेल्ट सहित कुल 21 अवैध दस्तावेज एवं 15 सौ रूपए बरामद किया है। आरोपित के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में विधिक कार्रवाई की। उक्त जानकारी देते हुए एसटीएफ प्रयागराज फील्ड इकाई के पुलिस उपाधीक्षक नवेन्दु कुमार ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित कौशाम्बी जिले के महेवाघाट थाना क्षेत्र के कुम्हियांवा बड़ी अढ़ौली गांव निवासी विपिन कुमार चौधरी पुत्र बनवारी लाल है। एसटीएफ को दो दिन से सूचना प्राप्त हो रही थी कि एक व्यक्ति एसटीएफ का अधिकारी बन करके कुल लोगों को ठगी के उद्देश्य से ब्लैकमेल कर रहा है।

इस सम्बन्ध में सिविल लाइंस में मुकदमा दर्ज कराया गया है। खुलासे के लिए टीम को लगाया गया था। सूचना संकलन करने के समय जानकारी मिली कि उत्तर प्रदेश एसटीएफ का आईपीएस अधिकारी बनकर ठगी करने वाला व्यक्ति सहाय अध्यक्षक राजेश सिंह, सुशील कुमार सिंह से हाईकोर्ट हनुमानमंदिर के पास मिलने के लिए आने वाला है। सूचना की पुष्टि करते हुए टीम पहुंची और गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान आरोपित ने बताया कि वह राजरूपपुर में किराये का कमरा लेकर रहता है तथा सिविल सेवाओं की परीक्षा के लिए तैयारी करता है। उसकी मां सुमति देवी मनकापुर प्राइमरी पाठशाला कौशाम्बी में सहायक अध्यापक है। उसी प्राथमिक विद्यालय में सुशील कुमार सिंह भी कार्यरत है।

आरोपित विपिन कुमार चौधरी का मानना है कि सुशील कुमार सिंह की जान पहचान बीआरसी से होने के कारण उसकी मां को परेशान करता था। इसी बात का बदला सुशील कुमार सिंह से लेने के लिए उसने एसटीएफ का फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर ब्लैकमेल करने लगा।

धीरे-धीरे पैसा एकत्र करके वर्दी, बैच, बिल्ले आदि जुटा लिया। एक किराये की कार लेकर ड्राईवर के साथ 8 अक्टूबर को सहायक अध्यापक सुशील कुमार सिंह के शिक्षा मित्र के रूप में प्रथम नियुक्ति वाले प्राथमिक विद्यालय परसिद्धपुर से 2006 से 2019 तक की अध्यापकों की उपस्थिति रजिस्टर की छायाप्रति को जांच के नाम पर ले गया तथा रिसीविंग प्रपत्र पर हस्ताक्षर करते हुए रविन्द्र कुमार पटेल आईपीएस एसटीएफ लखनऊ बन बैठा। आरोपित ने कई अध्यापकों से अवैध वसूली करने लगा। हालांकि उत्तर प्रदेश एसटीएफ के अधिकारियों के निर्देश पर उसके खिलाफ रविवार को कार्रवाई की गई।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta