भारत

डबल मर्डर: पति और पत्नी की हत्या, फिल्म दृश्यम देखकर मिला लाश को ठिकाने लगाने का आइडिया

jantaserishta.com
13 March 2022 3:20 AM GMT
डबल मर्डर: पति और पत्नी की हत्या, फिल्म दृश्यम देखकर मिला लाश को ठिकाने लगाने का आइडिया
x
आरोपियों ने बताया कि उन्होंने संपत्ति के लालच में दोनों की हत्या की थी और लाश को दफनाने का आइडिया अजय देवगन पर फिल्माए गए दृश्यम से आया था.

बिजनौर: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बिजनौर (Bijnor) जिले में पिछले बारह दिन से लापता समाजवादी पार्टी के व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव और उनकी पत्नी की हत्या कर दी गई. पुलिस ने आरोपियों के घर से दोनों की लाश को बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक संपत्ति हड़पने के इरादे से उनकी हत्या करने के बाद दोनों के शवों को घर में दफना दिया गया था. पुलिस ने इस मामले में एक महिला और उसके बेटे समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक एक आरोपी सहकारी समिति के अध्यक्ष और आजाद किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष हैं.

पुलिस के मुताबिक जिले के शिवलोक कॉलोनी निवासी राजेश अग्रवाल समाजवादी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव थे और उनकी पत्नी बबीता उर्फ बबली अभी अपना बिजनेस चलाती थी. बबीता का नई बस्ती में ब्यूटी पार्लर था. वहीं 28 फरवरी को दोनों पति-पत्नी अचानक लापता हो गए और इस मामले में गाजियाबाद में रहने वाले बबीता के भाई मनोज राणा ने 7 मार्च को शहर कोतवाली में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी. घर के लोगों का कहना है कि कई दिनों तक दोनों का फोन बंद मिला तो खोजबीन की गई. इसके बाद पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई. पुलिस ने शुक्रवार रात को हमीदपुर की रूमा और ब्यूटी पार्लर में काम करने वाले उसके बेटे तुषार से हिरासत में पूछताछ की. पुलिस के मुताबिक दोनों ने दंपति की हत्या करना स्वीकार कर लिया और उन्होंने पुलिस को बताया कि इस मर्डर में अन्य लोग भी शामिल हैं. इसके बाद राशिदपुर गढ़ी के मुकेश और उसके चचेरे भाई मोंटी उर्फ धीरज को भी हिरासत में ले लिया.
पुलिस ने जो चारों से पूछताछ की तो इस हत्याकांड का राज खुला. आरोपियों ने बताया कि उन्होंने घर में दोनों को मार कर उनकी लाश को दफना दिया है. वहीं शनिवार सुबह चारों के कहने पर रूमा के घर से पति-पत्नी के शव बरामद किए गए. पुलिस ने जेसीबी से आंगन खोदा तो राजेश अग्रवाल का शव मिला और वहीं पास में ही बबीता का शव भी दफनाया गया था. आरोपियों ने दीवार चिनावा दी थी. ताकि किसी को शक ना हो. एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने बताया कि शिवलोक में राजेश के घर और दो दुकानों को हड़पने के लिए दंपती की बेरहमी से हत्या की गई थी.
आरोपियों ने बताया कि उन्होंने संपत्ति के लालच में दोनों की हत्या की थी और लाश को दफनाने का आइडिया अजय देवगन पर फिल्माए गए दृश्यम से आया था. आरोपियों ने दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने के बाद शवों को छिपाने के लिए घर में ही दफना दिया था और पुलिस को उलझाने के लिए दंपति की स्कूटी को हरिद्वार ले जाकर पार्किंग में छोड़ दिया दिया था. जबकि बबीता के मोबाइल को मुरादाबाद में एक ट्रेन में छोड़ दिया. ताकि पुलिस इस मामले में उलझी ही रहे.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta