भारत

अग्निपथ प्रदर्शनकारियों का उत्‍पात: सुलग रहे कई राज्य, नौ कोचिंग संचालक गिरफ्तार

jantaserishta.com
19 Jun 2022 3:41 AM GMT
अग्निपथ प्रदर्शनकारियों का उत्‍पात: सुलग रहे कई राज्य, नौ कोचिंग संचालक गिरफ्तार
x

न्यूज़ क्रेडिट: आजतक

नई दिल्ली: सेना भर्ती की अग्निपथ स्कीम के खिलाफ उपजे आक्रोश की आग ने देश के कई राज्यों को चपेट में ले लिया है. कई राज्यों में युवाओं के विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा की घटनाएं भी सामने आई थी. उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार तक, मध्य प्रदेश से राजस्थान तक अग्निपथ के विरोध और इसके खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के मामले में अब कोचिंग कनेक्शन सामने आया है. यूपी के अलीगढ़, मध्य प्रदेश के ग्वालियर, राजस्थान के सीकर और बिहार के मसौढ़ी में पुलिस ने कई कोचिंग संचालकों को हिरासत में लिया है.

यूपी के अलीगढ़ में अग्निपथ के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हिंसा के मामले में पुलिस ने 35 लोगों को गिरफ्तार किया है. अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के मुताबिक गिरफ्तार किए गए 35 लोगों में नौ कोचिंग संचालक भी शामिल हैं. प्रदर्शन के दौरान हिंसा में इनकी भूमिका के संबंध में जांच की जा रही है. उन्होंने ये भी कहा कि जांच के बाद तथ्यों के आधार पर कड़ी कार्रवाई जाएगी. प्रदर्शन के दौरान हिंसा के मामले में 80 लोगों को हिरासत में लिया गया था. अलीगढ़ एसएसपी ने कहा कि पुलिस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भी नजर रख रही है.
मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पुलिस ने पांच कोचिंग संचालकों की भूमिका को संदिग्ध बताया है. पुलिस ने एक कोचिंग संचालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है. कोचिंग संचालक मामला दर्ज होने के बाद से फरार बताया जा रहा है. पुलिस अब फरार कोचिंग संचालक पर इनाम घोषित करने की तैयारी में है. अन्य फिजिकल ट्रेनिंग कोचिंग संचालकों की भूमिका के खिलाफ भी जांच के बाद एक्शन की तैयारी है.
ग्वालियर के जिलाधिकारी ने जिले में संचालित हो रहे सभी फिजिकल ट्रेनिंग कोचिंग संस्थानों के लिए संबंधित एसडीएम से अनुमति को अनिवार्य कर दिया है. इन संस्थानों से ट्रेनिंग लेने वाले छात्रों की पूरी जानकारी संबंधित थाने में देने के लिए भी कहा गया है. इसके लिए फिजिकल कोचिंग संस्थानों से तीन दिन के अंदर आवेदन करने के लिए भी कहा गया है. जिलाधिकारी की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि जो आदेश का उल्लंघन करेंगे, उनके खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी.
पुलिस के मुताबिक शुरुआती जांच में प्रदर्शनकारी युवाओं को कोचिंग संचालकों की ओर से भड़काए जाने की बात सामने आई है. कोचिंग संचालकों की ओर से थाने और कलेक्ट्रेट को फूंक देने के भड़काऊ संदेश भेजे गए थे. गौरतलब है कि प्रदर्शनकारियों ने शहर के गोले का मंदिर, बिरला नगर स्टेशन, ग्वालियर स्टेशन, गांधीनगर और हजीरा में उत्पात मचाया था. इसे लेकर जीआरपी और ग्वालियर पुलिस ने पांच एफआईआर दर्ज कर 34 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है.
राजस्थान के सीकर जिले के श्रीमाधोपुर में प्रदर्शन के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाए जाने के मामले में पुलिस एक्शन में है. पुलिस ने इस मामले में अब तक 17 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों में कोचिंग संचालक संयोग भावरिया भी शामिल है. संयोग की गिरफ्तारी पुलिस ने वीडियो और तस्वीरों के आधार पर पहचान होने के बाद की. पुलिस का दावा है कि प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व संयोग भावरिया ही कर रहा था. सीकर के पुलिस उपाधीक्षक सुरेंद्र कुमार ने कहा है कि पकड़े गए आरोपियों को जेल भेज दिया गया है.
अग्निपथ की आग में सबसे ज्यादा झुलस रहे बिहार में भी कोचिंग कनेक्शन सामने आया है. बिहार के मसौढ़ी में प्रदर्शनकारियों ने एक रेलवे स्टेशन को आग लगा दी थी और जीआरपी के जवानों को बंधक बना लिया था. पटना के जिलाधिकारी ने इसे लेकर जानकारी दी है कि अब तक 61 लोगों को को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि मसौढ़ी के दो कोचिंग संस्थानों ने लोगों को भड़काया. पटना के जिलाधिकारी ने कहा कि इन कोचिंग संचालकों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है. गौरतलब है कि प्रदर्शनकारियों ने दो चारपहिया और छह दोपहिया वाहनों में आग लगा दी थी.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta