भारत

कार्रवाई की मांग, भाई और बहन ने कही यह बात

jantaserishta.com
22 Aug 2022 7:12 AM GMT
कार्रवाई की मांग, भाई और बहन ने कही यह बात
x

न्यूज़ क्रेडिट: हिंदुस्तान

'मेरे माता-पिता की मौत हो चुकी है, पिता सरकारी कर्मचारी थे लेकिन अभी तक पेंशन नहीं मिल पा रहा है, मेरी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील है कि वह पेंशन न दे रहे बाबू पर कार्रवाई करें.'

कानपुर: 'मेरे माता-पिता की मौत हो चुकी है, पिता सरकारी कर्मचारी थे लेकिन अभी तक पेंशन नहीं मिल पा रहा है, मेरी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील है कि वह पेंशन न दे रहे बाबू पर कार्रवाई करें.' यह भावुक अपील उन्नाव के रहने वाले विराट मिश्र ने अपनी बहन परी मिश्रा के साथ वीडियो जारी करके की है.

अपने मां-बाप को खो चुके मासूम भाई-बहन अपने स्कूल की फीस नहीं दे पा रहे हैं. बार-बार दौड़ने के बाद भी सरकारी बाबू उनकी पेंशन नहीं बांध रहे हैं, जबकि डीएम ने पेंशन बनाने के आदेश दिए थे. दोनों बच्चों के लिए अब आखिरी उम्मीद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं, जिनसे अपील करते हुए दोनों बच्चों ने वीडियो जारी किया है.
दरअसल, 10 साल के मासूम विराट और 5 साल की मासूम परी के पिता आशीष उन्नाव के बीघापुर में तहसीलदार के सरकारी ड्राइवर थे. पिता की मौत अभी इसी साल के फरवरी में हो गई, जबकि 4 साल पहले उसकी मां निशा की मौत हो चुकी थी. पहले मां और अब पिता की मौत के बाद दोनों बच्चे अनाथ हो गए हैं.
इसके बाद उनकी नानी दोनों बच्चों को उन्नाव से कानपुर लेकर आ गईं. कानपुर में दोनों बच्चे अपनी नानी के साथ रहते हैं. पिता उन्नाव में सरकारी कर्मचारी थे इसलिए उनका फंड का पैसा, जीपीएफ समेत कई पेंशन का लाभ इन बच्चों को मिलना है, जिसके लिए डीएम ने आदेश कर दिया था लेकिन बच्चे अभी भी सरकारी बाबू के चक्कर लगा रहे हैं.
बच्चों कहना कि हमको स्कूल की फीस देने में परेशानी हो रही है. थक-हारकर बच्चों ने एक वीडियो संदेश जारी किया, जिसमें वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पेंशन दिलाने और बार-बार दौड़ाने वाले सरकारी बाबू के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. बच्चों का कहना है, 'हमें उम्मीद है कि सीएम योगी हमें न्याय देंगे.'

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta