भारत

कांग्रेस में संकट: पंजाब का झगड़ा सुलझा नहीं, हरियाणा में भी कुमारी शैलजा के खिलाफ बग़ावत शुरू

Kunti Dhruw
5 July 2021 6:20 PM GMT
कांग्रेस में संकट: पंजाब का झगड़ा सुलझा नहीं, हरियाणा में भी कुमारी शैलजा के खिलाफ बग़ावत शुरू
x
कांग्रेस पार्टी का संकट कम होता नहीं दिख रहा है,

कांग्रेस पार्टी का संकट कम होता नहीं दिख रहा है, पंजाब के बाद अब हरियाणा में गुटबाजी की खबर सामने आ रही है। खबरों के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के समर्थक विधायक वो नेता प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा से नाराज चल रहे हैं। पार्टी के 19 विधायकों ने कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल से सोमवार को मुलाकात की है।

बताते चलें कि इससे पहले प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने भी केसी वेणुगोपाल से मुलाकात की थी। हुड्डा समर्थक विधायक राज्य में कुमारी सैलजा को हटाकर पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कांग्रेस की कमान देने की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस विधायकों का कहना है कि किसान संगठनों के आंदोलन और चौटाला की रिहाई के बाद भी यदि कांग्रेस की कमान पूर्व सीएम हुड्डा के पास नहीं रहती है तो यह स्थिति पार्टी के लिए मुश्किल भरी हो सकती है। इधर कुमारी सैलजा ने विरोधियों पर तल्ख टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है कि मेरी रगों में कांग्रेसी खून है। हो सकता है कि कुछ लोगों की रगों में कम कांग्रेसी खून हो। कांग्रेस बड़ा समुद्र है। नेता आते-जाते रहते हैं। मैं जन्मजात कांग्रेसी हूं। मेरे पूर्वजों ने कभी कांग्रेस नहीं छोड़ी।
बताते चलें कि प्रदेश अध्यक्ष सैलजा ने जब से हुड्डा समर्थकों की सूची के बिना ही प्रदेश टीम को अंतिम रूप देकर आलाकमान को भेजने का निर्णय लिया है, तब से ही हुड्डा समर्थक उनसे नाराज चल रहे हैं। नाराज विधायक काफी दिनों से संगठन महासचिव वेणुगोपाल और प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल से मुलाकात के लिए समय की मांग कर रहे थे। बताते चलें कि हरियाणा में कांग्रेस के 31 विधायक हैं। जिसमें से लगभग 19 विधायक हुड्डा के समर्थक माने जाते हैं। भूपेंद्र सिंह हुड्डा अभी प्रदेश विधानसभा में विधायक दल के नेता भी हैं। भूपेंद्र सिंह हुड्डा की जाट समुदाय पर अच्छी पकड़ मानी जाती रही है। गौरतलब है कि कांग्रेस के पंजाब और राजस्थान इंकाई में भी विद्रोह के स्वर हाल के दिनों में देखे गए हैं।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta