भारत

कोरोना के सक्रिय मामले, महामारी की दूसरी लहर से ज्यादातर राज्यों को मिली राहत

Chandravati Verma
17 May 2021 5:46 PM GMT
कोरोना के सक्रिय मामले, महामारी की दूसरी लहर से ज्यादातर राज्यों को मिली राहत
x
देश के ज्यादातर हिस्सों को कोरोना महामारी की दूसरी लहर से राहत मिलने लगी है।

देश के ज्यादातर हिस्सों को कोरोना महामारी की दूसरी लहर से राहत मिलने लगी है। दक्षिण भारत के कुछ राज्यों को छोड़कर शेष प्रदेशों में नए मामलों में तेजी से गिरावट आ रही है और उसी के अनुपात में सक्रिय मामले भी कम हो रहे हैं। अगर पिछले पांच दिनों की ही बात करें तो सक्रिय मामले करीब दो लाख कम हुए हैं और नए मामलों में भी एक लाख की गिरावट नजर आ रही है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से सोमवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे के दौरान 2,81,837 नए मामले सामने आए हैं और सक्रिय मामलों की संख्या 35,12,674 पर आ गई है। जबकि, पांच दिन पहले यानी 12 मई को 3,62,632 मरीज मिले थे और 37,06,080 एक्टिव केस थे।
दिनांक नए मामले एक्टिव केस
16 मई 2,81,837 35,12,674
15 मई 3,10,757 36,13,507
14 मई 3,27,257 36,69,445
13 मई 3,43,005 37,00,327
12 मई 3,62,632 37,06,080
कम नहीं हो रही दैनिक मौतें
मंत्रालय के मुताबिक इस दौरान ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है, लेकिन चिंता की बात यह है कि दैनिक मृतकों की संख्या नहीं घट रही। पिछले कुछ दिनों से रोजाना औसत चार हजार लोगों की जान जा रही है। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली समेत जिन प्रमुख राज्यों में दैनिक मामले लगातार कम हो रहे हैं, वहां भी मृतकों की संख्या घट नहीं रही है।
कुल संक्रमितों का आंकड़ा 2.50 करोड़ के करीब पहुंच गया है। इनमें से करीब 2.12 करोड़ मरीज पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं और 2.74 लाख की जान जा चुकी है। मरीजों के उबरने की दर बढ़कर 84.81 फीसद हो गई है। मृत्युदर 1.10 फीसद है, जो पिछले कुछ दिनों से 1.09 फीसद पर स्थिर बनी हुई थी। कुल संक्रमितों के अनुपात में सक्रिय मामले 14.09 फीसद हैं।हीं हो रहा है। आंध्र प्रदेश में तो 24 हजार से ज्यादा नए मामले हैं। महामारी के सामने आने के बाद से राज्य में एक दिन में कभी इतने मामले नहीं मिले थे। लेकिन कर्नाटक में तीन महीने में पहली बार कर्नाटक में एक दिन में नए मामलों (31,531) की तुलना में ज्यादा मरीज (36,475) ठीक हुए हैं।
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के मुताबिक कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए रविवार को देश भर में 15,73,515 नमूनों की जांच की गई। इनको मिलाकर अब तक कुल 31 करोड़ 64 लाख 23 हजार से ज्यादा नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta